कटक। कोलकाता नाइट राइडर्स के गेंदबाजों ने बुधवार को मुंबई इंडियंस को 141 रन पर रोकते हुए जीत का मंच खड़ा करने में अहम भूमिका निभाई। मैच में दो विकेट झटकने वाले टीम के दक्षिण अफ्रीकी दिग्गज पेसर मोर्ने मोर्कल के मुताबिक सही सोच और 'बॉडी लैंग्वेज' गेंदबाजों की सफलता की अहम कड़ी है।

मोर्कल ने कहा, 'बॉडी लैंग्वेज सबसे अहम है। बल्लेबाज में खौफ पैदा करना या दबाव बनाना अलग चीज है लेकिन मुझे लगता है बॉडी लैंग्वेज सबसे अहम कड़ी है। मेरे हिसाब से ये हमेशा बल्ले और गेंद के बीच की टक्कर ही रहेगी। ये हम गेंदबाजों के लिए जरूरी है कि हम अपना संयम बनाए रखें और लक्ष्य व अपनी गेंदबाजी की ओर केंद्रित रहें।' मोर्कल के मुताबिक मुंबई की टीम के खिलाफ उनकी टीम को हालातों का फायदा मिला क्योंकि वे इससे वाकिफ थे और केकेआर के स्पिनरों ने खासतौर पर जानदार प्रदर्शन किया और मुंबई इंडियंस को ज्यादा आगे बढ़ने से रोका।

आइपीएल की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप