नई दिल्ली। आईपीएल 6 में स्पॉट फिक्सिंग मामले में एक सनसनीखेज खुलासा हुआ है। मामले के एक मुख्य आरोपी और राजस्थान रॉयल्स के खिलाड़ी एस श्रीसंत मुंबई में दोस्त के घर नहीं बल्कि कार में तीन लड़कियों के साथ गिरफ्तार किए गए। इस खुलासे के बाद और सनसनी फैल गई है।

जानिए पूरी कहानी : तीनों खिलाड़ी कैसे करते थे फिक्सिंग, क्या था उनका इशारा

सूत्रों के हवाले से आई खबर के अनुसार मुंबई-राजस्थान मैच के बाद श्रीसंत और अंकित चव्हाण ब्रांद्रा स्थित स्वैंकी पब में बुकी मिथानिया से मिलने पहुंचे। जब वे पब में बुकी से मिलने पहुंचे तो पिछले कुछ सप्ताह से इनपर नजर रख रही दिल्ली पुलिस की एक टीम बाहर इनका इंतजार कर रही थी। करीब आधे घंटे बाद अंकित चव्हाण पब से बाहर निकल आए और होटल के लिए रवाना हो गए। उनके पीछे-पीछे पुलिस की टीम भी रवाना हुई। जब चव्हाण इंटरकॉन्टिनेंटल होटल पहुंचे तब पुलिस ने इन्हें हिरासत में ले लिया।

जानिए : स्पॉट फिक्सिंग के तीन स्पेशल कोडवर्ड क्या हैं

इस बीच मिथालिया और श्रीसंत पब के भीतर ही थे और पुलिस की दूसरी टीम बाहर उनका इंतजार कर रही थी। करीब डेढ़ बजे श्रीसंत भी पब से बाहर निकले और कार में बैठकर वाटरफील्ड रोड की तरफ रवाना हो गए। उनके पीछे बुकी मिथानिया भी कार में बैठकर चले गए। दोनों के पीछे पुलिस की अलग-अलग टीम गई। श्रीसंत की कार जैसे ही मोती महल के पास पहुंची, पुलिस ने कार रोककर उन्हें भी हिरासत में ले लिया। सूत्रों ने बताया कि जब पुलिस ने श्रीसंत को गिरफ्तार किया तो कार में तीन लड़कियां भी बैठी हुई थीं। पुलिस ने उनके बारे में सवाल भी किया था।

वहीं, दूसरी तरफ मिथानिया को भी पुलिस ने लिंकिंग रोड से गिरफ्तार कर लिया। गौरतलब है कि पहले यह खबर आ रही थी कि चंडीला और चावन की गिरफ्तारी होटल से हुई, जबकि श्रीसंत आर्थर रोड स्थित मुंबई में अपने एक दोस्त के घर से गिरफ्तार हुए। इस खुलासे के बाद आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग मामले में एक नया मोड़ आ गया। यानी फिक्सिंग के लिए बुकीज लड़कियों का इस्तेमाल करते थे। इस खुलासे के बाद एकबार फिर यह बात सामने आ गई कि आईपीएल में खुलकर अय्याशी होती है।

जानिए : क्या है स्पॉट फिक्सिंग, कैसे होता है सारा खेल

पढ़ें : श्रीसंत के पिता ने धौनी और भज्जी को बताया गुनहगार

फिलहाल तीनों खिलाड़ियों सहित हिरासत में लिए गए 14 लोग पांच दिन की पुलिस रिमांड पर हैं। दिल्ली पुलिस इन्हें सात दिन की रिमांड पर लेना चाहती थी, लेकिन उन्हें सिर्फ पांच दिन की ही इजाजत दी गई। वहीं, इन खिलाड़ियों पर मकोका लगाने की भी तैयारी की जा रही है। अगर इनपर मकोका लग जाता है तो फिर 18 महीने तक इन्हें बेल नहीं मिलेगी।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस