पुणे। इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में खेलने वाले जम्मू-कश्मीर के पहले क्रिकेटर परवेज रसूल ने पुणे वॉरियर्स के लिए अपने आगाज को जिंदगी का 'गर्व भरा दिन' बताया। हालांकि रसूल को इस बात का दुख भी है कि उनकी टीम यह मैच हार गई।

रसूल ने कहा, 'यह मेरी जिंदगी का गर्व भरा दिन है। पूरा जम्मू-कश्मीर इस मैच को देख रहा था और मुझे इस पर गर्व है। मुझे सचमुच अच्छा महसूस हो रहा है। मैं इसके लिए अल्लाह का शुक्रगुजार हूं कि मैं यहां तक पहुंच सका।' रसूल 12 मैचों में बेंच पर ही थे। 24 वर्षीय ऑलराउंडर को गुरुवार रात कोलकाता नाइटराइडर्स के खिलाफ मैच में पुणे वॉरियर्स के अंतिम एकादश में जगह मिली।

जैक्स कैलिस का विकेट चटकाने वाले रसूल ने कहा, 'मैं अपने इस आगाज प्रदर्शन को पूरे जम्मू-कश्मीर और भारत के शुभचिंतकों को समर्पित करना चाहूंगा। कैलिस निश्चित रूप से महान हैं, वह क्रिकेट के सर्वश्रेष्ठ ऑलराउंडर हैं, इसलिए उनका विकेट चटकाना सचमुच अच्छा था। कैलिस का विकेट मेरे लिए सचमुच काफी विशेष था।'

रसूल को 12 मैचों के लंबे इंतजार के बाद कोलकाता नाइटराइडर्स के खिलाफ पुणे वॉरियर्स के अंतिम एकादश में शामिल किया गया था। उनकी इस उपलब्धि पर जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने भी ट्वीट कर बधाई दी और उम्मीद जताई कि वह अपने खेल से राज्य का नाम जरूर रोशन करेंगे। वह मुकाबला कोलकाता ने 46 रनों से जीत लिया। रसूल को उस मुकाबले में एक विकेट मिले थे।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस