नई दिल्ली। तीन खिलाड़ियों की गिरफ्तारी के बाद अब राजस्थान रॉयल्स टीम (आरआर) के मालिकों में से एक और अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी के पति राज कुंद्रा भी मुसीबतों के भंवर में फंसते नजर आ रहे हैं। कुंद्रा भी दिल्ली पुलिस के शक के घेरे में। एहतियातन उनका पासपोर्ट जब्त कर लिया गया।

इससे पहले स्पॉट फिक्सिंग मामले की जांच कर रही दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने बुधवार को कुंद्रा से करीब 12 घंटे तक पूछताछ की। उन्होंने फिक्सिंग के बारे में जानकारी होने से इन्कार किया। अधिकारी उनके जवाब से अभी संतुष्ट नहीं हैं, इसलिए उनसे आज भी पूछताछ हो सकती है।

सूत्रों की मानें तो क्रिकेटर सिद्धार्थ त्रिवेदी की तरह राज कुंद्रा के दोस्त उमेश गोयनका को भी सरकारी गवाह बनाया जा सकता है। चार दिन से वह पुलिस के संपर्क में था। विशेष पुलिस आयुक्त एसएन श्रीवास्तव के अनुसार, राज कुंद्रा से आरआर के मालिकाना हक, टीम में उनकी भूमिका और उमेश से रिश्तों के बारे में पूछा गया। उमेश के नाम का खुलासा सिद्धार्थ त्रिवेदी के बयान में हुआ था। कुंद्रा को गिरफ्तार करने या छोड़े जाने पर उन्होंने कहा कि अभी कुछ स्पष्ट नहीं है। हालांकि सूत्रों की मानें तो उनकी गिरफ्तारी संभव है।

अधिकारियों ने बताया कि अहमदाबाद निवासी उमेश गोयनका और राज कुंद्रा स्टील के कारोबार में बिजनेस पार्टनर हैं। उमेश को भी राज मैच देखने के लिए आमंत्रित करते थे। टीम के कई खिलाड़ियों से भी उमेश के अच्छे संबंध थे। आरआर के खिलाड़ी सिद्धार्थ त्रिवेदी ने पूछताछ के दौरान बताया था कि उमेश ने इस आइपीएल सीजन के दौरान एक मैदान की पिच और खिलाड़ियों की पोजीशन के बारे में जानकारी हासिल करने की कोशिश की थी।

इसके अलावा उमेश ने यह भी पूछा था कि कौन सी टीम जीतेगी। इस खुलासे के बाद स्पेशल सेल ने उमेश गोयनका को तलब किया था। उमेश ने अपने बयान में राज कुंद्रा के बारे में भी कई चौंकाने वाली जानकारियां पुलिस टीम को दी हैं। एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार, राज कुंद्रा को फोन कर पूछताछ के लिए बुलाया गया था। लोधी रोड स्थित स्पेशल सेल के दफ्तर में सुबह साढ़े नौ बजे से उनसे पूछताछ शुरू हुई।

सबसे कम हिस्सेदारी

पूछताछ में पता चला कि आरआर के मालिक चार पार्टनर हैं और चारों विदेशी नागरिकता वाले हैं। टीम में सबसे अधिक हिस्सेदारी आइपीएल के पूर्व चैयरमैन ललित मोदी के रिश्तेदार सुरेश चेलाराम की है। 43 फीसदी हिस्सेदारी रखने वाले सुरेश नाइजीरिया में रहते हैं। वहीं, लंदन में रहने वाले मनोज बदाले का टीम में 34 फीसद हिस्सा है। तीसरे नंबर पर मीडिया मुगल के तौर पर पहचाने जाने वाले रूपर्ट मर्डोक के बेटे लैकलन मर्डोक हैं। लैकलन के बाद ब्रिटिश नागरिक राज कुंद्रा का नंबर आता है। एक अधिकारी के अनुसार, इतनी कम हिस्सेदारी के बावजूद राज द्वारा टीम मालिक के तौर पर खुद को आगे रखना हैरानी वाली बात है।

खिलाड़ी बच्चे नहीं - कुंद्रा

बीसीसीआइ द्वारा बनाए गए नियमों पर अमल के बार में राज कुंद्रा का कहना था कि सभी खिलाड़ी बालिग हैं। उन्हें सभी नियम बताए जाते हैं। अनुबंध पत्र में सब कुछ लिखा होता है। टीम प्रबंधक की हैसियत से खिलाड़ियों पर नजर रखने व उनसे मिलने आने वाले लोगों को चेक करने के सवाल पर कुंद्रा का कहना था कि जहां जिस होटल में टीम ठहरती है, चेकिंग की व्यवस्था होती है। लेकिन कई बार खिलाड़ी यह कहकर बाहरी लोगों को बुला लेते हैं कि आगंतुक उनके निजी मेहमान हैं।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप