नई दिल्ली, निखिल शर्मा। उन्मुक्त चंद की कप्तानी में भारत ने 2012 में अंडर-19 विश्व कप का खिताब जीता था। इस विश्व कप में पंजाब के पटियाला शहर के रहने वाले तेज गेंदबाज संदीप शर्मा ने दोनों ओर स्विंग कराकर सभी को अपना कायल बनाया था। यहीं से संदीप की किस्मत बदली। इंडियन प्रीमियर लीग में किंग्स इलेवन पंजाब ने उन्हें मौका दिया। पांच साल तक पंजाब के लिए खेलकर अब संदीप पहले से कहीं ज्यादा अनुभवी हो गए हैं। संदीप का यही अनुभव इस बार सनराइजर्स हैदराबाद के काम आएगा।

आइपीएल में हर बार गेंदबाज को विकेट लेने के लिए कुछ नया करना होता है। संदीप ने दैनिक जागरण से विशेष बातचीत में कहा कि मैं जितना सीख सकूं वह कम है। मैं नक्कल गेंद पर काम कर रहा हूं। पिछले मैच में जब चोटिल भुवनेश्वर की जगह मुझे मौका मिला, तो मैंने इसमें इस गेंद को फेंका भी था और सफलता भी मिली। संदीप ने इस सीजन के अपने पहले ही मैच दो विकेट लेकर मुंबई इंडियंस की कमर तोड़ दी थी। संदीप ने 25 रन देकर दो बल्लेबाज़ों को पवेलियन भेजा। 

बुमराह से भी ज्यादा कंजूस है संदीप

आपको बता दें कि आइपीएल में संदीप शर्मा का इकॉनमी रेट 7.74 का है वहीं टीम इंडिया और मुंबई इंडियंस के डेथ ओवर स्पेशलिस्ट गेंदबाज़ जसप्रीत बुमराह का इकॉनमी रेट 8.04 का है। तो ऐसे में अगर संदीप को एक कंजूस गेंदबाज़ कहा जाए तो गलत नहीं होगा। 

सिद्धार्थ कौल सी सीखी नक्कल बॉल

अनुभवी भुवनेश्वर के टीम में रहते हुए उनसे सीखने के सवाल पर 24 वर्षीय गेंदबाज ने कहा कि मैं नक्कल गेंद पर तीन महीनों से मेहनत कर रहा हूं। मैंने पंजाब रणजी टीम के अपने साथी सिद्धार्थ कौल को पहली बार इसका इस्तेमाल करते देखा था। टीवी पर भी इस गेंद से गेंदबाजों को सफलता हासिल करते देखा। मेरे लिए यह काफी अच्छा अनुभव रहा और अब मैं इसमें निपुण होना चाहता हूं।

IPL की खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

दो साल हुए खराब

21 साल की उम्र में टीम इंडिया के लिए टी-20 प्रारूप में पदार्पण करने वाले संदीप ने कहा कि मैंने टीम इंडिया में मुकाम बहुत जल्दी बना लिया था, लेकिन इसके बाद मेरे कंधे में चोट लग गई। इससे मैं करीब डेढ़ साल तक क्रिकेट से दूर रहा। छह महीने मुझे अपनी लय पाने में लग गए। ऐसे में मेरे करीब दो साल खराब चले गए। वापसी के बाद मैं आइपीएल का पिछला सत्र ही पूरा खेल पाया था।

हैदराबाद का रहेगा दबदबा 

आइपीएल के सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी आक्रमण पर दायें हाथ के तेज गेंदबाज ने कहा कि पूरी टीम का अच्छा समायोजन है। मैं टीम के साथ अच्छा महसूस कर रहा हूं। हम 150 से नीचे विरोधी टीम को रोक रहे हैं। पांच साल मैं पंजाब के साथ रहा, जिन्होंने 19 साल की उम्र में मुझे मौका दिया। मैंने अच्छा नाम कमाया। अब सनराइजर्स में हूं, यहां पर मुझे वीवीएस लक्ष्मण, मुथैया मुरलीधरन और टॉम मूडी जैसे दिग्गजों से काफी कुछ सीखने को मिलेगा। मेरा खेल और बेहतर होगा।

आइपीएल का पूरा शेड्यूल देखने के लिए यहां क्लिक करें

केन हैं कमाल के कप्तान

टीम के कप्तान विलियमसन की तारीफ करते हुए संदीप ने कहा कि वह काफी अच्छा कर रहे हैं। वह एक चालाक कप्तान हैं। उनके पास हर बल्लेबाज के लिए गेंदबाज हैं। कोलकाता के खिलाफ पिछले मैच में वह आंद्रे रसेल को जल्दी आउट करना चाहते थे। बिली स्टेनलेक का एक ओवर जबकि राशिद के दो ओवर बचे थे। ऐसे में उन्होंने बिली को मौका दिया, जिन्होंने रसेल को नौ रन पर ही आउट कर दिया।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Pradeep Sehgal

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप