नई दिल्ली, जेएनएन। डीआरएस का मतलब भले ही क्रिकेट की रूल बुक में डिसिजन रिव्यू सिस्टम हो लेकिन, भारत में क्रिकेट फैंस इसे 'धौनी रिव्यू सिस्टम' कहते हैं। अक्सर देखा जाता है कि महेंद्र सिंह धौनी जो भी डीआरएस कॉल लेते हैं उनमें से ज्यादातर फैसले उनके पक्ष में आते हैं। ऐसा ही कुछ आइपीएल के 25वें मैच में देखा गया। यहां भी धौनी ने आखिरी क्षणों में रिव्यू लिया और विपक्षी टीम राजस्थान रॉयल्स के कप्तान अजिंक्य रहाणे को वापस डगआउट में जाना पड़ा। 

दरअसल, राजस्थान रॉयल्स बनाम चेन्नई सुपर किंग्स मैच में सीएसके ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी चुनी। ऐसे में धौनी भी चाहते थे कि रहाणे की टीम को कम से कम रन बनाने दिए जाएं और जल्द कुछ विकेट लिए जाएं। इस बीच चेन्नई सुपर किंग्स के तेज गेंदबाज दीपक चाहर अपने स्पेल का दूसरा और पारी का तीसरा ओवर लेकर आए। दीपक चाहर के सामने थे राजस्थान रॉयल्स के कप्तान अजिंक्य रहाणे। रहाणे ने चाहर की अंदर आती गेंद को ऑन साइड में खेलना चाहा लेकिन मिस कर गए और गेंद पैड पर जाकर लगी। 

 WATCH: Ms Dhoni's successful DRS call, DRS Means Dhoni Review System. https://t.co/Qnv3CbQgWs

दीपक चाहर ने जोरदार अपील की, विकेट से करीब 20 गज पीछे खड़े धौनी ने भी अपील की लेकिन अंपायर संतुष्ट नहीं हुए। उधर, दीपक चाहर पूरी तरह आश्वस्त थे कि गेंद स्टंप्स को हिट करेगी। लेकिन, धौनी को भरोसा नहीं था कि गेंद स्टंप्स को हिट करेगी। कुछ सेकेंड धौनी और चाहर के बीच बातचीत हुई और धौनी ने अंपायर से रिव्यू ले लिया। तीसरे अंपायर ने सभी पहेलुओं को देखकर अंजिक्य रहाणे को आउट दे दिया। इस तरह एक बार फिर धौनी ने दिखा दिया है कि डीआरएस मतलब 'धौनी रिव्यू सिस्टम' ही है।   

Posted By: Vikash Gaur