नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। इंडियन प्रीमियर लीग के 15वें सीजन में पहली बार टू्र्नामेंट का हिस्सा बनीं गुजरात टाइटंस ने दमदार खेल दिखाते हुए फाइनल में जगह बनाई। हार्दिक पांड्या की कप्तानी में खेलने उतरी मुख्य कोच आशीष नेहरा की टीम ने आलराउंड खेल दिखाया और स्टार खिलाड़ियों ने जिम्मेदारी भरा प्रदर्शन कर दिखाया। टीम की लगातार जीत का राज है उसके सभी खिलाड़ियों का अच्छा करना। स्टार से भरी टीम किसी एक पर निर्भर नहीं है चाहे हार्दिक हो या राहुल तेवतिया, शुभमन गिल या फिर राशिद खान सबने अपना बेस्ट दिया है। डेविड मिलर के अनुभव का भी टीम को फायदा पहुंचा। 

आइपीएल 2022 में गुजरात की टीम ने अपने 14 लीग मुकाबले में से 10 में जीत हासिल कर 20 अंकों हासिल करते हुए प्लेआफ में जगह पक्की की। क्वालीफायर 1 में राजस्थान के खिलाफ आखिरी ओवर में तीन छक्के जड़ते हुए टीम ने फाइनल का टिकट पक्का किया। लीग स्टेज में टीम को अपने चार मुकाबले गंवाने पड़े इसके अलावा हर मैच में उसने लाजवाब खेल दिखाया और हर बार टीम जीतने वाली टीम बनीं। हार्दिक ने बल्लेबाजी क्रम में उपर आकर जिम्मेदारी भरी पारी खेली और मैच फिनिशर के तौर पर राहुल तेवतिया ने आखिरी गेंद तक टीम को जीत दिलाई।

Koo App

"Coming together is a beginning, staying together is progress, and working together is success." Well done titans boy’s congratulations for everyone 👏🏻👏🏻✌🏻✌🏻 @gujarat_titans #mshami11 #ipl #ipl2022 #aavade

View attached media content

- Mohammad Shami (@mdshami11) 25 May 2022

कैसा रहा टीम का सफर

गुजरात की टीम ने लखनऊ के खिलाफ शानदार जीत के साथ शुरुआत की थी। पहले तीन मैच में जीत हासिल करने के बाद टीम को हैदराबाद के खिलाफ टूर्नामेंट में पहली हार मिली। यहां से हार के बाद गुजरात ने वापस से लय हासिल की और लगातार अगले पांच मुकाबले में जीत दर्ज की।

अगले दो मुकाबले पंजाब और फिर मुंबई ने टीम को मात दिया लेकिन इसके बाद अगली दो जीत के साथ टीम ने प्लेआफ में जगह पक्की की और इस सीजन में ऐसा करने वाली पहली टीम बनीं। आखिरी लीग मैच में आरसीबी से टीम को हार जरूर मिली लेकिन इसके बाद भी इसने अंक तालिका पर टाप पर रहते हुए लीग स्टेज खत्म किया।  

फाइनल में दमदार खेल 

आखिरी ओवर में टीम को यहां 16 रन की जरूरत थी लेकिन तीन गेंद में ही डेविड मिलर ने खेल खत्म कर दिया। प्रसिद्ध कृष्णा आखिरी ओवर करने आए और लगातार तीन गेंद पर छक्का जड़ उन्होंने मैच खत्म कर टीम को फाइनल में पहुंचाया। राजस्थान ने 188 रन का स्कोर खड़ा किया था जिसे 19.3 ओवर में गुजरात ने 3 विकेट गंवाकर हासिल कर लिया।

Edited By: Viplove Kumar