नई दिल्ली, जागरण न्यूज नेटवर्क। इस सत्र में दिल्ली कैपिटल्स की टीम जिस तरह से प्रदर्शन कर रही है, उसे देखकर कहा जा सकता है कि यह बिलकुल दिल्ली की नई टीम है जो प्रदर्शन के दम पर ही अपना लोहा मनवा रही है। आइपीएल के शुरुआती सत्र 2008 और 2009 में दिल्ली ने सेमीफाइनल खेले थे, लेकिन इसके बाद टीम का प्रदर्शन गिरता चला गया और कितने कोच और कप्तान आए, लेकिन स्थिति नहीं सुधरी।

हालांकि, जब से कोच रिकी पोंटिंग के साथ कप्तान श्रेयस अय्यर दिल्ली की टीम का हिस्सा बने तो टीम की स्थिति सुधरने लगी। दोनों की जोड़ी ने टीम को पहली बार 2020 में फाइनल में पहुंचाया, लेकिन टीम खिताबी मैच में मुंबई इंडियंस से हार गई। 2021 के पहले चरण में श्रेयस अय्यर के चोटिल होने के बाद पंत को कप्तानी की जिम्मेदारी सौंपी गई और टीम ने अच्छा प्रदर्शन किया। फिर दूसरे चरण में संयुक्त अरब अमीरात में भी पंत की कप्तानी वाली टीम का शानदार प्रदर्शन जारी है।

टीम ने शनिवार को अबूधाबी में राजस्थान रायल्स को 33 रनों से हरा दिया। इसके साथ ही टीम प्ले आफ में जगह बनाने के करीब पहुंच गई है और साथ ही अंक तालिका में शीर्ष पर स्थान पर भी कब्जा जमाया। अबूधाबी की धीमी पिच पर श्रेयस अय्यर की उपयोगी 43 रनों की पारी से दिल्ली की टीम निर्धारित 20 ओवर में छह विकेट पर 154 रनों का स्कोर खड़ा किया। जवाब में दिल्ली के की कसी हुई गेंदबाजी के आगे राजस्थान की बल्लेबाजी फ्लाप हो गई और छह विकेट पर 121 का स्कोर कर मैच हार गई। टीम के लिए कप्तान संजू सैमसन ने नाबाद 70 रनों की पारी खेली।

दिल्ली ने आइपीएल 2021 के सीजन में लगातार चौथी जीत दर्ज की। दिल्ली ने लगातार दो जीत इस चरण में भी हासिल कर ली हैं। इससे अच्छा सीजन शायद ही दिल्ली की टीम के लिए गया होगा, जब टीम ने अपने पहले 10 मैचों में 8 मैच जीतकर अंकतालिका में पहला स्थान हासिल किया हुआ है और प्लेआफ के लिए दावेदारी भी पेश कर दी है। आइपीएल 2021 की अंकतालिका में अब चेन्नई सुपर किंग्स दूसरे स्थान पर खिसक गई है, जिसने अपने 7 मुकाबले अब तक जीते हैं। 

Edited By: Vikash Gaur