नई दिल्ली, जेएनएन। आइपीएल के 12वें सीजन में अभी तक तीन टीमों ने अपनी जगह पक्की कर ली है। सीजन के 51वें मुकाबले में गुरुवार को सुपर ओवर में हैदराबाद को हराते ही मुंबई प्लेऑफ में पहुंचने वाली तीसरी टीम बनी। इससे पहले चेन्नई और दिल्ली दोनों ही आइपीएल के प्लेऑफ में पहुंच चुकी हैं। अब चौथे स्थान के लिए जंग जारी है। जिसके लिए चार टीमें जी-जान लगा रही हैं। 

कुछ टीमें जो अपने विदेश खिलाड़ियों पर निर्भर थीं उन्हें अपनी रणनीति पर दोबारा काम करना पड़ेगा। अब लगभग सभी टीमों को घरेलू खिलाड़ियों की मदद से जीत की कोशिश करनी होगी।

प्लेऑफ में पहुंचने के लिए टीमों को न सिर्फ प्रदर्शन बल्कि साथ ही उन्हें दूसरी टीमों के खेल पर भी ध्यान देना होगा। कुछ टीमों के लिए सिर्फ जीत काफी है जबकि कुछ के लिए दूसरों की हार भी मायने रखेगी। कुछ के लिए नेट रन रेट और जीत का अंतर मायने रखेगा। कुल मिलाकर सभी टीमों के लिए मौके कम रह गए हैं अगर वह अब चूके तो मौका अगले साल ही मिलेगा।

कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR)
शुक्रवार रात टूर्नामेंट के 52वें मुकाबले में कोलकाता नाइटराइडर्स ने किंग्स इलेवन पंजाब को 7 विकेट से हराया। इस जीत से कोलकाता की प्लेऑफ में पहुंचने की उम्मीदें अब भी बरकरार हैं। केकेआर को 2 अंक मिले। उसके अब 13 मैच में 12 अंक हैं और अंक तालिका में 5वें नंबर पर पहुंच गई। केकेआर का अगला मैच तीसरे स्थान पर काबिज मुंबई इंडियंस से होना है। 

किंग्स इलेवन पंजाब (KXIP)
वहीं, पंजाब के 13 मैच में 10 अंक ही हैं। अब उसे प्लेऑफ में पहुंचने के लिए रविवार को चेन्नई सुपरकिंग्स को हराने के साथ ही दूसरी टीमों के नतीजों पर भी निर्भर होना होगा। 

सनराइजर्स हैदराबाद (SRH)
पॉइंट टेबल में चौथे नम्बर पर सनराइजर्स हैदराबाद है। टीम ने 13 मुकाबलों में से छह में जीत हासिल की है जबकि सात में उसे हार मिली। टीम के 12 अंक हैं और रनरेट 0.653 है। हैदराबाद को प्लेऑफ में पक्की जगह बनाने के लिए अपने अगले और आखिरी लीग मैच में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर को हर हाल में हराना होगा। लेकिन अगर बैंगलोर के खिलाफ हैदराबाद हार जाती है तो इसका सीधा-सीधा फायदा कोलकाता, राजस्थान और पंजाब को होगा।

राजस्थान रॉयल्स (RR)
विदेशी खिलाड़ियों के जाने के बाद राजस्थान काफी कमजोर नजर आ रही है। उसकी प्लेऑफ की दौड़ भी बिलकुल आसान नहीं होगी। क्योंकि राजस्थान का रनरेट (-0.343) बेहद खराब है इसलिए एक हार और राजस्थान प्लेऑफ की दौड़ से बाहर हो जाएगी। टीम ने 13 में सिर्फ पांच मैच जीते हैं। अब राजस्थान का अगला मुकाबला मजबूत और प्लेऑफ में क्वालीफाई कर चुकी दिल्ली से फिरोजशाह कोटला में होना है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Ruhee Parvez