नई दिल्ली, जेएनएन। IPL 2019 Qualifier 1 MI vs CSK: मौजूदा विजेता चेन्नई सुपरकिंग्स(CSK) को अपना खिताब बचाने की एक अहम लड़ाई में एक ऐसी टीम का सामना करना है, जिसके सामने उसे अधिकतर मौकों पर हार मिली है। आइपीएल-12(IPL - 12) के क्वालीफायर-1 में चेन्नई को अपने घरेलू मैदान एमए चिदंबरम स्टेडियम में मुंबई इंडियंस(MI) से चुनौती मिलेगी। चेन्नई को घरेलू मैदान का फायदा मिलेगा, तो मुंबई की टीम अपने पुराने रिकॉर्ड को देखते हुए आत्मविश्वास से भरी होगी।

हार से खत्म नहीं होगा सफर 
दोनों टीमों की नजरें जीत पर हैं, लेकिन इस मैच में हार से किसी भी टीम का सफर को खत्म नहीं होगा। मसलन इस मैच में जीतने वाली टीम बेशक सीधे फाइनल में पहुंचेगी, लेकिन हारने वाली टीम को क्वालीफायर-2 में एलिमिनेटर मैच जीतने वाली टीम से भिड़ने का मौका मिलेगा। एलिमिनेटर में दिल्ली कैपिटल्स (DC) और सनराइजर्स हैदराबाद(SRH) एक-दूसरे से भिड़ेंगे। चेन्नई अंकतालिका में शीर्ष पर चल रही थी, लेकिन अंतिम मैच में किंग्स इलेवन पंजाब(KXIP) के हाथों मिली हार और मुंबई की कोलकाता नाइटराइडर्स(KKR) के खिलाफ जीत ने उसे दूसरे नंबर पर पहुंचा दिया, जबकि मुंबई पहले नंबर पर आ गई।

मुंबई का पलड़ा भारी
इस सत्र में दोनों टीमों के बीच लीग दौर में हुए दो मैचों में दोनों में मुंबई ने बाजी मारी थी। मुंबई इस सत्र में पहली टीम थी जिसने चेन्नई को उसके घर में हराया। मुंबई के खिलाफ चेन्नई अधिकतर मौकों पर कमजोर सी दिखी है। इसी को ध्यान में रखते हुए चेन्नई इस मैच को हल्के में नहीं लेना चाहेगी। मुंबई ने इस सत्र में शुरुआत उतनी अच्छी नहीं की थी, लेकिन बाद में लय पकड़ी। उसका शीर्ष क्रम मजबूत है। कप्तान रोहित शर्मा और क्विंटन डिकॉक इस सत्र की बेहतरीन सलामी जोडि़यों में से एक साबित हुए हैं तो मध्य क्रम में सूर्यकुमार यादव भी कोलकाता के खिलाफ पिछले मुकाबले से फॉर्म में वापसी कर चुके हैं।

इस सत्र टीम की एक अलग ताकत आखिरी ओवर में बहुत तेजी से रन बटोरना रही है और इसमें हार्दिक पांड्या ने बड़ा किरदार निभाया है। हार्दिक को कीरोन पोलार्ड का भी अच्छा साथ मिला है। ऐसा नहीं है कि बीते सत्रों में मुंबई यहां कमजोर थी लेकिन इस सत्र वह डेथ ओवरों में तेजी से रन बटोरने में दो कदम आगे रही है। गेंदबाजी में उसके पास दो ऐसे गेंदबाज है जो डेथ ओवरों में रन बनाना मुश्किल कर देते हैं। जसप्रीत बुमराह और लसिथ मलिंगा की जोड़ी चेन्नई के बल्लेबाजों के लिए खतरनाक साबित हो सकती है इसमें शंका की गुंजाइश कम है।

केदार जाधव चोटिल 
वहीं चेन्नई को अपने पिछले मैच में पंजाब के खिलाफ हार झेलनी पड़ी थी जिसने उसकी कई कमियां उजागर की हैं। महेंद्र सिंह धौनी चतुर कप्तान हैं और बेशक वह अपनी टीम की कमजोरियों से अच्छी तरह से वाकिफ होंगे। चेन्नई को केदार जाधव के चोटिल होने से झटका लगा है। जाधव को पंजाब के खिलाफ कंधे में चोट लग गई थी। चेन्नई के पास हालांकि बल्लेबाजी में अच्छे और बड़े नाम हैं। शेन वॉटसन, सुरेश रैना, ड्वेन ब्रावो, अंबाती रायुडू और खुद कप्तान धौनी का जलवा पूरी दुनिया ने देख रखा है।

गेंदबाजी धौनी के लिए चिंता का सबब हो सकती है क्योंकि मुंबई की बल्लेबाजी जितनी मजबूत है उसके सामने चेन्नई के गेंदबाज कुछ खास नहीं हैं। ऐसे में अच्छा खासा दारोमदार अनुभवी हरभजन सिंह और वॉटसन के जिम्मे होगा। ब्रावो टीम के लिए कई मौकों पर तुरुप का इक्का साबित हुए हैं। उनसे भी धौनी को अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद होगी।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Tanisk

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस