नई दिल्ली, जेएनएन। आइपीएल 2019 के सीजन अब अपने आखिरी पड़ाव पर पहुंच चुका है जहां टॉप तीन टीमें चैंपियन बनने के लिए मुकाबला करेंगी। चेन्नई सुपर किंग्स टूर्नामेंट के दूसरे क्वालीफायर में शुक्रवार यानि आज दिल्ली कैपिटल्स से भिड़ेगी। इस मैच में जो भी जीतेगा उसका फाइनल मुकाबला मुंबई इंडियंस से होगा।   

मुंबई से लगातार तीन मैच गंवाने के बाद अब चेन्नई को दूसरा क्वालीफायर खेलना है। आइपीएल के इतिहास में मुंबई इंडियंस ऐसी पहली टीम बनी जिसने चेन्नई सुपर किंग्स को लगातार चार बार हराया हो।      

दूसरी तरफ, एलीमिनेटर मैच में मजबूत हैदराबाद को हराकर दिल्ली के हौंसले बुलंद हैं। ऐसा पहली बार हुआ जब दिल्ली आइपीएल के नॉक आउट मैच में जीत दर्ज करने में सफल हुई हो। दिल्ली सिर्फ अपने नेट रन रेट की वजह से पॉइंट टेबल के टॉप पर जगह नहीं बना पाई। आइपीएल के इतिहास में यह दिल्ली की अब तक बेस्ट परफॉर्मेंस रही है।  

दिल्ली के सामने धौनी की चुनौती
लेकिन अब धौनी की कप्तानी वाली सीएसके से दिल्ली का मुकाबला आसान नहीं होगा। इस सीजन दिल्ली ने चेन्नई के खिलाफ अपने दोनों मैच गंवाए हैं। पिछले मैच में चेन्नई ने दिल्ली को 80 रन के बड़े अंतर से पटखनी दी थी। चेन्नई ने हमेशा से आइपीएल में 20 में से 14 मैच जीत कर दिल्ली पर हावी रही है।    

क्या दिल्ली करेगी टीम में बदलाव
दिल्ली कैपिटल्स ने पूरे सीजन टीम में कुछ खास बदलाव नहीं किए हैं। इस मैच में भी उम्मीद है कि वह मैच विनिंग टीम को ही खिलाएगी। टीम के टॉप चार बल्लेबाज अहम साबित होंगे। शिखर धवन 500 रनों के साथ टीम की तरफ से सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी हैं। पृथ्वी शॉ और रिषभ पंत ने पिछले मैच में अच्छी पारी खेली थी। वहीं पिछले मैच को छोड़ दिया जाए तो कप्तान श्रेयस अय्यर तीसरे नम्बर पर अच्छी मजबूती देते हैं। 

जीत के लिए CSK को करने होंगे बदलाव
चेन्नई सुपर किंग्स की सबसे बड़ी कमजोरी है उनका टॉप ऑर्डर। पॉवरप्ले में चेन्नई की परफॉर्मेंस सभी टीमों में सबसे खराब है। इसका मतलब टीम को टॉप ऑर्डर से अभी तक एक भी मैच में मजबूत शुरुआत नहीं मिली है।  

SRH के खिलाफ मैच को छोड़ दिया जाए तो शेन वॉटसन अभी तक अच्छा स्कोर करने में नाकाम रहे हैं। वॉटसन का ओपनिंग में आना और स्कोर न कर पाना टीम के लिए बड़ी चिंता का विषय है। टीम ने जाधव की जगह मुरली विजय को शामिल किया है और अब वॉटसन की जगह लेने के लिए कोई अनुभवी बल्लेबाज नहीं है। ऐसे में कप्तान धौनी विजय को आपनिंग का मौका दे सकते हैं। मुरली विजय ने ओपनिंग में सफल बल्लेबाज रहे हैं और वह फाफ डू प्लेसी के साथ मिलकर पॉवरप्ले का फायदा उठा सकते हैं। वहीं वॉटसन को चौथे नम्बर पर बल्लेबाजी करने के लिए भेज सकते हैं। आइपीएल का इतिहास देखा जाए तो वॉटसन ने चौथे नम्बर पर बल्लेबाजी करते हुए 850 रन बनाए हैं।  

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Ruhee Parvez

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस