शारजाह, प्रेट्र। चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) का आइपीएल के इस सत्र में अभियान बद से बदतर होता जा रहा है और शुक्रवार को होने वाले मुकाबले में गत चैंपियन मुंबई इंडियंस के खिलाफ उम्मीद है कि वह अपने कुछ युवा खिलाड़ियों को आजमाए। हालांकि कप्तान महेंद्र सिंह धौनी ने राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ मिली हार के बाद स्वीकार किया कि सत्र उनके लिए शायद खत्म हो चुका है, लेकिन टीम अगर अपने बचे हुए चारों मैच जीत ले तो ही वह 14 अंक हासिल कर सकती है जिससे उन्हें अगर-मगर से प्लेऑफ में जगह बनाने का मौका मिल सकता है।

लगता रहा झटके पर झटका : मुख्य कोच स्टीफन फ्लेमिंग ने कहा कि उनकी उम्रदराज खिलाडि़यों से भरी टीम पिछले दो सत्र में अच्छा करने के बाद अब चमक खोती जा रही है जिसने 2018 में खिताब जीता और फिर अगले साल फाइनल में प्रवेश किया। टूर्नामेंट के शुरुआती मैच में मुंबई इंडियंस पर जीत हासिल करने के बाद उसके लिए चीजें खराब होती रही। टीम को राजस्थान रॉयल्स के हाथों करार शिकस्त झेलनी पड़ी और अब ड्वेन ब्रावो भी उसके साथ नहीं होंगे जो चोटिल होने के कारण टूर्नामेंट से बाहर हो गए।

डुप्लेसिस को छोड़ सभी फ्लॉप : राजस्थान के खिलाफ उसके बल्लेबाज जूझते दिखे और अब देखना बाकी होगा कि टीम नए खिलाडि़यों को मौका देगी या नहीं क्योंकि सोमवार को मिली हार के बाद धौनी ने इसका संकेत दिया था। फॉफ डुप्लेसिस को छोड़ दें तो धौनी भी अन्य खिलाडि़यों की तरह सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन नहीं कर पाए। टीम के लगातार केदार जाधव को खिलाने के फैसले की भी काफी आलोचना हुई जो जूझते नजर आए और अब यह देखना होगा कि उनकी जगह एन जगदीशन या रितुराज गायकवाड़ को उतारा जाएगा या नहीं।

मुंबई इंडियंस है फॉर्म में : सीएसके शानदार फॉर्म में चल रही मुंबई इंडियंस के खिलाफ मैदान में उतरेगी जो लगातार पांच मैचों में जीत के बाद शानदार लय में थी लेकिन किंग्स इलेवन पंजाब ने उसकी इस लय को तोड़ दिया और रविवार की रात दो सुपर ओवर में जीत हासिल की। चार बार की आइपीएल चैंपियन शानदार फॉर्म में हैं और गेंदबाजी आक्रमण में विविधता की मौजूदगी से वह सीएसके के बल्लेबाजों के लिए बड़ी चुनौती बन सकते हैं जिनका आत्मविश्वास वैसे ही गिरा हुआ है।

शारजाह पर विकेट के धीमा होने से चीजें बदलती हुई दिख रही हैं। साथ ही मुंबई इंडियंस के बल्लेबाजी क्रम में क्विंटन डिकॉक अच्छी फॉर्म में हैं जबकि रोहित शर्मा, सूर्यकुमार यादव और इशान किशन ने भी अच्छा किया। कीरोन पोलार्ड और हार्दिकपांड्या की पावर हिटिंग ने भी तब मुंबई को बचाया जब उसके बड़े खिलाड़ी नहीं चले।

क्रुणाल पंड्या ने भी कुछ अहम योगदान दिया और लेग स्पिनर राहुल चाहर के साथ कसी गेंदबाजी की। मुंबई की गेंदबाजी इकाई अच्छा कर रही है लेकिन टीम प्रबंधन जेम्स पैटिनसन को नाथन कूल्टर नाइल की जगह लाने के बारे में सोच सकता है जो खर्चीले साबित हुए हैं। शुक्रवार को मैच में दो अंक से रोहित शर्मा की टीम प्लेऑफ स्थान पक्का करने के करीब पहुंच जाएगी जबकि सीएसके अब तक के खराब सत्र का अंत अच्छी तरह करना चाहेगी जिसके पास अगर मगर से अब भी मौका है।

नंबर गेम :

- 29 मुकाबले अब तक दोनों टीम के बीच खेले गए हैं। 12 में सीएसके और 17 में मुंबई ने जीत दर्ज की हैं। 

- 208 रन सर्वोच्च स्कोर है सीएसके का मुंबई के खिलाफ, 202 रन मुंबई ने बनाए हैं सीएसके के खिलाफ। 

Aus-vs-Ind

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस