जोहानिसबर्ग, पीटीआइ। इंडियन प्रीमियर लीग के 14वें सीजन में खेल रहे दक्षिण अफ्रीका के ऑलराउंडर क्रिस मौरिस स्वदेश पहुंच गए हैं। राजस्थान रॉयल्स के लिए खेलने वाले मौरिस ने कहा कि आइपीएल के बायो-बबल में कोविड-19 के मामले पाए जाने के बाद अफरातफरी का माहौल बन गया था और वह स्वदेश लौटकर राहत महसूस कर रहे हैं।

29 मैच खेले जाने के बाद मंगलवार 4 मई को आइपीएल को स्थगित किए जाने के बाद मौरिस और 10 अन्य दक्षिण अफ्रीकी खिलाड़ी स्वदेश लौट गए हैं। आइपीएल में कोविड-19 के छह मामले पाए गए थे, जिसमें चार खिलाड़ी और दो कोच शामिल थे। अभी अपने घर में 10 दिन के अनिवार्य क्वारंटाइन पर रह रहे। अपने देश पहुंचकर उन्होंने कहा, 'निश्चित तौर पर मैं राहत महसूस कर रहा हूं।'

इंग्लैंड दौरे और WTC Finals के लिए टीम का ऐलान, हार्दिक बाहर, इन खिलाड़ियों को मिली जगह

मौरिस ने कहा कि उन्हें कोलकाता नाइटराइडर्स के दो खिलाड़ियों वरुण चक्रवर्ती और संदीप वॉरियर के पॉजिटिव पाए जाने के बारे में रविवार की रात को पता चला। उन्होंने कहा, "जैसा ही हमें इस बारे में पता चला कि बायो-बबल के अंदर खिलाड़ी पॉजिटिव पाए गए हैं तो सभी ने सवाल करने शुरू कर दिए। हम सभी के अंदर निश्चित तौर पर खतरे की घंटी बजनी शुरू हो गई थी।"

आगे मौरिस बोले, "सोमवार तक जब उन्होंने वह मैच (केकेआर बनाम आरसीबी) स्थगित किया तब तक हमें पता चल गया था कि टूर्नामेंट जारी रखने के लिए दबाव बना हुआ है। मैं अपनी टीम के डॉक्टर से बात कर रहा था। कुमार संगकारा ने तब इशारा किया और तब हमें पता चला कि अब टूर्नामेंट आगे नहीं बढ़ पाएगा। इसके बाद का माहौल अफरातफरी वाला था। इंग्लैंड के खिलाड़ी विशेषरूप से घबराए हुए थे क्योंकि उन्हें इंग्लैंड में होटलों में अलग थलग रहने की जरूरत थी और जाहिर था कि उनके पास कमरे नहीं थे।"

 

Edited By: Viplove Kumar