नई दिल्ली, जेएनएन। यूनिवर्स बॉस क्रिस गेल का बल्ला जब भी चलता है तो फिर आग उगलता है। क्रिकेट का फॉर्मेट चाहे जैसा हो, स्टेडियम कैसा भी हो या फिर पिच खराब हो। अगर क्रिस गेल का बल्ला चल गया तो विपक्षी टीम के गेंदबाजी पानी मांगते नज़र आते हैं। ऐसा ही कुछ आज से ठीक 6 साल पहले देखा गया जब उन्होंने आइपीएल के एक मैच में ऐसी तबाही मचाई की विपक्षी टीम चारों खाने चित हो गई। देखते ही देखते क्रिस गेल ने T20 क्रिकेट का सबसे बड़ा निजी स्कोर खड़ा कर दिया, जो आज तक अटूट बना हुआ है। 

दरअसल, आइपीएल के छठे सीजन के 31वें मैच में 23 अप्रैल, 2013 को पुणे वॉरियर्स के खिलाफ आरसीबी की ओर से खेलते हुए क्रिस गेल ने नाबाद 175 रन की पारी खेली। क्रिस गेल ने मात्र 66 गेंदों में 175 रन ठोक डाले। क्रिस गेल की इस पारी में 13 चौके और 17 छक्के शामिल थे। बेंगलुरू के एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेले गए इस मुकाबले को विराट कोहली की कप्तानी वाली रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने 130 रन के अंतर से अपने नाम किया था। 

इस मुकाबले में पुणे वॉरियर्स के कप्तान एरोन फिंच ने टॉस जीतकर गेंदबाजी का फैसला किया था। लेकिन, पुणे वॉरियर्स के सात गेंदबाज मिलकर अकेले क्रिस गेल को नहीं रोक पाए। आरसीबी ने पहले बल्लेबाजी करते हुए क्रिस गेल के नाबाद 175 रन के दम पर निर्धारित 20 ओवर में 5 विकेट खोकर 263 रन बनाए। आरसीबी की ओर से तिलकरत्ने दिलशान ने 33 और एबी डिविलियर्स ने 31 रन की पारी खेली। वहीं, पुणे की ओर से अशोक डिंडा को दो विकेट मिले। डिंडा के अलावा मिचेल मार्श और ल्यूक राइट को एक-एक विकेट मिला। 

उधर, 264 रन के टारगेट का पीछा करते हुए पुणे वॉरियर्स 20 ओवर बल्लेबाजी करते हुए 9 विकेट खोकर 133 रन बनाए। आइपीएल 2013 के इस मैच में पुणे की ओर से स्टीव स्मिथ ने 41 रन, मिचेल मार्श ने 24, कप्तान एरोन फिंच ने 18 और युवराज सिंह ने 16 रन बनाए। वहीं, आरसीबी की ओर से रवि रामपाल, जयदेव उनादकट और क्रिस गेल ने दो-दो विकेट चटकाए। इनके अलावा मुरली कार्तिक, आरपी सिंह और विनय कुमार को एक-एक विकेट मिला।   

Posted By: Vikash Gaur