नई दिल्ली, जेएनएन। India vs South Africa first test match 2019: साउथ अफ्रीका के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने अनुभवी विकेटकीपर रिद्धिमान साहा (Wriddhiman Saha) पर अपना भरोसा दिखाया। साहा को पहले टेस्ट मैच के लिए अंतिम ग्यारह में जगह दी गई। भारतीय सरजमीं की घूमती पिच पर अनुभवी साहा को रिषभ पंत (Rishabh Pant) से ज्यादा भरोसेमंद समझा गया और उन्हें मौका दिया गया इसके अलावा साहा इन दिनों घरेलू धरती पर अच्छी बल्लेबाजी कर रहे थे जिसका भी उन्हें फायदा हुआ। हालांकि साहा वेस्टइंडीज दौरे पर टीम इंडिया के साथ थे पर वहां खेले गए दोनों टेस्ट मैचों में रिषभ को ही मौका दिया गया पर वो खुद को साबित नहीं कर पाए। साहा ने टेस्ट क्रिकेट में 20 महीनों के बाद बल्लेबाजी की, लेकिन वो बड़ी पारी खेलने में नाकाम रहे। 

साहा नहीं खेल पाए बड़ी पारी

साउथ अफ्रीका के खिलाफ पहले टेस्ट मैच की पहली पारी में रोहित शर्मा और मयंक अग्रवाल की बेहतरीन बल्लेबाजी के दम पर टीम इंडिया काफी मजबूत स्थिति में थी। साहा को बल्लेबाजी के लिए आठवें नंबर पर भेजा गया था और उनके पास एक बड़ी पारी खेलने का पूरा मौका था पर वो ऐसा करने में कामयाब नहीं हो पाए। हालांकि उन्होंने 16 गेंदों पर तेज गति से 21 रन जरूर बनाए। उन्होंने अपनी पारी में चार चौके भी लगाए। 

20 महीनों के बाद टेस्ट में की बल्लेबाजी

रिद्धिमान साहा को टेस्ट क्रिकेट में 20 महीनों के बाद बल्लेबाजी का मौका मिला। इस टेस्ट मैच से पहले उन्होंने अपने टेस्ट करियर का अंतिम मैच भी साउथ अफ्रीका के खिलाफ ही 5 जनवरी 2018 को केपटाउन में साउथ अफ्रीका के खिलाफ खेली थी। इस मैच की दो पारियों में उन्होंने 0 और 8 रन बनाए थे। इसके बाद वो चोटिल हो गए थे और फिर भारतीय टेस्ट टीम से लंबे वक्त के लिए बाहर हो गए थे। वेस्टइंडीज दौरे के लिए उनकी भारतीय टेस्ट टीम में वापसी हुई थी, लेकिन उन्हें वहां खेले गए दो टेस्ट मैचों में मौका नहीं मिला था। 

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sanjay Savern

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस