नई दिल्ली, प्रेट्र। विराट कोहली ने अपने इंटरनेशनल क्रिकेट करियर में कई यादगार पारियां खेली हैं जिनके दम पर टीम इंडिया को जीत मिली है। विराट की सभी पारियां एक से बढ़कर एक रही हैं और अगर ये कहा जाए कि उनकी ऐसी पारी बताई जाए जो सबसे शानदार रही है तो इसका चयन करना थोड़ा मुश्किल है, लेकिन टीम इंडिया के पूर्व ओपनर बल्लेबाज गौतम गंभीर ने विराट कोहली के क्रिकेट करियर की सबसे बेस्ट पारी का चयन किया है। 

साल 2012 में पहली बार विराट कोहली को एशिया कप के लिए मैन इन ब्लू का उप-कप्तान बनाया गया। इस टूर्नामेंट में वो बेस्ट स्कोरर रहे थे और 119 की औसत से 357 रन बनाए थे। इस टूर्नामेंट के दौरान विराट कोहली ने पाकिस्तान के खिलाफ 183 रन की पारी 330 रन को चेज करते हुए खेली थी और भारत को जीत दिलाई थी। विराट की ये पारी कभी नहीं भूलने वाली इनिंग साबित हुई थी। इस मुकाबले में गौतम गंभीर दूसरी पारी की दूसरी ही गेंद पर आउट हो गए थे और फिर विराट ने सबकुछ संभाल लिया था। 

गौतम गंभीर के मुताबिक ये विराट कोहली के करियर की सबसे महान पारी थी। उन्होंने कहा कि विराट ने कई अविश्वनीय पारियां खेली हैं, लेकिन पाकिस्तान के खिलाफ खेली गई उनकी 183 रन की पारी हर दृष्टिकोण से महान पारी है। सबसे पहले की हमें 330 रन चेज करने थे और भारत ने अपना पहला विकेट एक रन बनाए बगैर खो दिया था। इसके बाद विराट ने 330 रन में से 183 रन बनाए। उस समय वो ज्यादा अनुभवी खिलाड़ी नहीं थे। ईमानदारी से कहू तो ये मेरे हिसाब से विराट की सबसे महान पारी थी। ये बात उन्होंने स्टार स्पोर्ट्स पर बेस्ट ऑफ एशिया कप के दौरान कही। 

पाकिस्तान के खिलाफ विराट कोहली ने सचिन के साथ 133 रन की साझेदारी की और फिर रोहित शर्मा (68) के साथ मिलकर 182 रन की पार्टनरशिप भी की। वो 183 रन बनाकर उमर गुल की गेंद पर आउट हुए थे। विराट की इस पारी के दम पर भारत ने 48वें ओवर में ही मैच जीत लिया था। हालांकि भारत अगले दौर में नहीं पहुंच पाया था, लेकिन विराट ने साबित कर दिया था कि वो भविष्य के खिलाड़ी हैं। साल 2012 में विराट कोहली ने वनडे में सबसे ज्यादा 1024 रन बनाए थे। इसी साल उन्होंने भारतीय टेस्ट टीम में भी अपना डेब्यू किया था। 

Posted By: Sanjay Savern

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस