अबू धाबी, विशाल श्रेष्ठ। आइपीएल की दो टीमें अगले साल क्रिकेट के सबसे छोटे प्रारूप वाली टी-10 लीग में शिरकत कर सकती हैं। टी-10 लीग के संस्थापक और चेयरमैन नवाब शाजी उल मुल्क ने खास बातचीत में इसकी जानकारी देते हुए कहा कि आइपीएल की दो टीमें टी-10 लीग खेलने की इच्छुक हैं। देर से फैसला लेने के कारण वे इस साल भाग नहीं ले सकीं। अगले साल उनके खेलने की पूरी उम्मीद है।

नवाब शाजी ने हालांकि उन दो टीमों के नामों का रहस्योद्घाटन नहीं किया। उन्होंने आगे कहा, 'पिछले साल हमने टीमों की संख्या छह से बढ़ाकर आठ की थी, अगले साल आइपीएल की दो टीमों के भाग लेने पर संख्या बढ़कर 10 हो सकती है।' यह पूछे जाने पर कि क्या आइपीएल की टीमों के टी-10 लीग खेलने पर बीसीसीआइ के साथ हितों के टकराव की स्थिति पैदा नहीं होगी, इस पर टी-10 लीग के संस्थापक ने कहा, 'दूसरी क्रिकेट लीग की तरह यहां भी टीमें नाम बदलकर खेलेंगी, हालांकि उनका स्वामित्व और प्रबंधन नहीं बदलेगा। मसलन, अगर कोलकाता नाइटराइडर्स भाग लेती है तो उसका इस लीग में नाइटराइडर्स नाम हो सकता है। टी-10 लीग खेलने के लिए आइपीएल की टीमों को भी नए खिलाडि़यों के लिए ड्राफ्ट की प्रक्रिया में भाग लेना होगा।'

नवाब शाजी ने बताया कि टी-10 लीग के मैच और अवधि बढ़ाने पर विचार किया जा रहा है। इसे 10 दिन और 29 मैच से बढ़ाकर 15 दिन और 50 मैच किया जा सकता है। अभी सिंगल राउंड होते हैं, जिसे डबल राउंड कर दिया जाएगा। इस बारे में मौजूदा लीग के खत्म होने के बाद ही फैसला लिया जाएगा।

भारत में टी-10 लीग शुरू करने की संभावना के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, 'यह तो भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ही बता सकता है। हम हालांकि इस बाबत कोशिश कर रहे हैं। हम चाहते हैं कि भारत में भी इसकी शुरुआत की जाए। भले पहले जिला या राज्य जैसे छोटे स्तर पर क्यों न हो।'

यह पूछे जाने पर कि क्या अगले साल इंग्लैंड में शुरू होने वाला 100 गेंदों का खेल 'द हंड्रेड' टी-10 लीग को चुनौती पेश कर सकता है, इस पर उन्होंने कहा, 'प्रतिस्पर्धा प्रारूप नहीं, अधिकार क्षेत्र को लेकर होती है। इंग्लैंड की लीग को इंग्लैंड में चुनौती मिलेगी। टी-20 की 50 ओवर के मैच से कोई प्रतिस्पर्धा नहीं है, उसकी प्रतिस्पर्धा टी-20 से है। भिन्न प्रारूप में कभी प्रतिस्पर्धा नहीं होती।' टी-10 के ओलंपिक में शामिल होने की संभावना पर नवाब शाजी उल मुल्क ने कहा, 'इस पर ओलंपिक समिति ही फैसला ले सकती है, लेकिन मेरा मानना है कि जिस खेल की अवधि जितनी कम होती है, उसके ओलंपिक में शामिल होने की संभावना उतनी ही ज्यादा होती है।'

Posted By: Sanjay Savern

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप