नई दिल्ली। भारतीय वनडे व टी-20 कप्तान महेंद्र सिंह धौनी समेत कुल 10 क्रिकेटर्स को आइपीएल की दो नई फ्रेंचाइजियों ने मंगलवार को प्लेयर्स ड्राफ्ट के जरिए हासिल किया। इन क्रिकेटर्स में सुरेश रैना, अजिंक्य रहाणे, रविचंद्रन अश्विन, रवींद्र जडेजा, ब्रेंडन मॅक्कुलम और स्टीवन स्मिथ प्रमुख रूप से शामिल है।

इन क्रिकेटर्स का टी-20 लीग आइपीएल में जबर्दस्त प्रदर्शन रहा है। सुरेश रैना के नाम पर तो आइपीएल के कई कीर्तिमान दर्ज है जिनमें चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) की तरफ से सभी 132 मैचों में खेलने का दुर्लभ रिकॉर्ड शामिल है। धौनी व रैना अभी तक एक टीम सीएसके की तरफ से खेल रहे थे, लेकिन वे अब एक-दूसरे के खिलाफ खेलते हुए नजर आएंगे। धौनी को पुणे फ्रेंचाइजी ने तो रैना को राजकोट फ्रेंचाइजी ने हासिल किया है।

इसी प्रकार दो ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज स्टीवन स्मिथ और जेम्स फॉकनर पिछले सत्र तक राजस्थान रॉयल्स की तरफ से एक साथ खेल रहे थे, लेकिन यह जोड़ी भी अब टूट जाएगी। स्मिथ जहां पुणे टीम का प्रतिनिधित्व करेंगे, वहीं फॉकनर राजकोट टीम का हिस्सा होंगे।

पुणे टीम के शीर्ष खिलाड़ी (आइपीएल में प्रदर्शन)

महेंद्रसिंह धौनी : 129 मैच, 2986 रन, 39.29 औसत

विजय हजारे ट्रॉफी में खराब फॉर्म के बावजूद धौनी की लोकप्रियता कम नहीं हुई है। जब टी-20 और आइपीएल की बात आती है तो धौनी का खेल अलग स्तर पर पहुंच जाता है। इसी के चलते प्लेयर्स ड्राफ्ट में पुणे ने उन्हें सबसे पहले खरीदा।

अजिंक्य रहाणे : 81 मैच, 2195 रन, 33.77 औसत

विभिन्न प्रारूपों में और विभिन्न बल्लेबाजी क्रम में खुद को ढाल लेने की काबिलियत अजिंक्य रहाणे को अन्य खिलाड़ियों से अलग खड़ा करती है। वे इस वक्त जबर्दस्त फॉर्म में हैं और पिछले सत्र में राजस्थान रॉयल्स के लिए सलामी बल्लेबाज के रूप में भी उनका प्रदर्शन अच्छा रहा था।

रविचंद्रन अश्विन : 97 मैच, 90 विकेट, 24.22 औसत

अश्विन की विविधता बल्लेबाजों के लिए मुश्किले खड़ी कर रही है। दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज उनसे काफी परेशान हुए। इसके अलावा अश्विन बड़े शॉट्स भी खेलने में सक्षम है।

स्टीवन स्मिथ : 46 मैच, 961 रन, 34.22 औसत

स्मिथ इस वक्त दुनिया के स्मार्ट क्रिकेटरों में से एक हैं। पिछले सत्र में भले ही राजस्थान रॉयल्स टीम एलिमिनेटर में बाहर हो गई, लेकिन स्मिथ की नेतृत्व क्षमता की सभी ने तारीफ की।

फॉफ डु प्लेसिस : 45 मैच, 1081 रन, 30.03 औसत

द. अफ्रीकी खिलाड़ी प्लेसिस ने भारत के खिलाफ हाल में संपन्न वन-डे सीरीज में लगातार तीन अर्द्धशतक और एक शतक लगाकर अपनी काबिलियत साबित की थी। उन्होंने पिछले आईपीएल सत्र में सीएसके को फाइनल में पहुंचाने में अहम भूमिका निभाई थी।

राजकोट फ्रेंचाइजी

सुरेश रैना : 132 मैच, 3699 रन, 34.25 औसत, 24 विकेट, 38.67 औसत

रैना आईपीएल के सबसे ज्यादा सफल बल्लेबाजों में शामिल है। इच्छानुसार शॉट्स खेलने की उनकी काबिलियत उन्हें बल्लेबाजों से उपर साबित करती है। इसके अलावा उम्दा फील्डिंग तथा प्रदर्शन में निरंतरता उनके प्लस पाइंट हैं।

रवींद्र जडेजा : 111 मैच, 1383 रन, 23.44 औसत

जडेजा ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में जोरदार वापसी कर बता दिया था कि वे इस प्लेयर्स ड्राफ्ट में टीमों की पसंद रहेंगे। इस ऑलराउंडर ने घरेलू क्रिकेट में जोरदार प्रदर्शन कर राष्ट्रीय टीम में वापसी की और उसे द. अफ्रीका के खिलाफ बनाए रखा। राजकोट की स्थिति में वे बल्लेबाजों के लिए परेशानी खड़ी करते हैं।

ब्रेंडन मॅक्कुलम : 76 मैच, 2080 रन, 29.30 औसत

न्यूजीलैंड के ब्रेंडन मॅक्कुलम अपनी विस्फोटक बल्लेबाजी के अलावा विकेटकीपर की भूमिका में किसी भी टीम के लिए उपयोगी योगदान देते रहे हैं। पिछली बार वे सीएसके में शामिल थे, लेकिन इस बार धोनी की टीम के खिलाफ मैदान में मोर्चा संभालेंगे।

जेम्स फॉकनर : 45 मैच,396 रन, 22.47 औसत, 51 विकेट, 27.06 औसत

ऑस्ट्रेलिया के फॉकनर बाएं हाथ के तेज गेंदबाज और सीधे हाथ के निचले मध्यक्रम के बल्लेबाज हैं। तूफानी स्ट्रोक्स खेलने की काबिलियत के चलते उनकी टी-20 मैचों में काफी डिमांड रहती है।

ड्वेन ब्रावो : 91 मैच, 1163 रन, 24.74 औसत, 105 विकेट, 21.53 औसत

वेस्टइंडीज के ड्वेन ब्रावो आईपीएल के पिछले सत्र में सीएसके के सफल खिलाड़ी रहे थे। उन्होंने 26 विकेट लिए थे। ब्रावो की जबर्दस्त फील्डिंग और बड़े स्ट्रोक्स खेलने की काबिलियत उन्हें बेहतरीन खिलाड़ी बनाती है।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: sanjay savern

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस