नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। भारत और साउथ अफ्रीका के बीच खेले गए तीन मैचों की टेस्ट सीरीज का आखिरी मुकाबला केपटाउन में खेला गया था और इस मैच के दौरान डीआरएस विवाद को लेकर विराट कोहली खूब चर्चा में आए। डीन एल्गर ने आउट होने के बाद डीआरएस लिया और फिर वो नाट आउट करार दिए गए और ये फैसला भारतीय टेस्ट कप्तान विराट कोहली को इतना नागवार गुजरा कि उन्होंने स्टंप माइक पर जाकर ब्राडकास्कर तक के बारे में कमेंट कर डाला। कोहली के इस बर्ताव के बारे में कई पूर्व क्रिकेटरों ने यहां तक कह डाला की उन पर कार्रवाई की जानी चाहिए। कुछ ने तो ये भी कह दिया कि विराट कोहली को या तो फाइन किया जाना चाहिए या फिर उन पर बैन लगाना चाहिए। 

इन सारी बातों के बीच केपटाउन टेस्ट में डीआरएस विवाद को लेकर भारतीय टीम पर किसी भी तरह का कोई चार्ज नहीं लगाया गया है। आइसीसी के मैच अधिकारियों ने टीम इंडिया को चेतावनी जरूर दी, लेकिन किसी भी तरह का कोई चार्ज नहीं लगाया गया। डीआरएस ने जब एल्गर को आउट दिए जाने का फैसला बदल दिया तब भारतीय खिलाड़ियों ने अपने गुस्से को स्टंप माइक के सामने जाकर जाहिर किया। इस फैसले को लेकर उन्होंने काफी तीखी बातें कहीं, लेकिन आइसीसी ने इसके लिए कप्तान कोहली समेत भारतीय टीम को किसी भी तरह का सजा नहीं दी। ईएसपीएन क्रिकइंफो की रिपोर्ट के मुताबिक मैच अधिकारियों ने टीम से बात जरूर की थी, लेकिन आधिकारिक तौर पर कोई भी कोड आफ कंडक्ट तोड़ने का चार्ज नहीं लगाया। 

आपको बता दें कि केपटाउन टेस्ट मैच में भारत ने मेजबान टीम को जीत के लिए 212 रन का लक्ष्य दिया था जिसे इस टीम ने तीन पर हासिल कर लिया और सात विकेट से मैच जीत लिया। इस जीत के साथ साउथ अफ्रीका ने तीन मैचों की टेस्ट सीरीज को 2-1 से अपने नाम कर लिया और भारत का एक बार फिर से साउथ अफ्रीकी धरती पर टेस्ट सीरीज जीतने का सपना अधूरा रह गया। 

Edited By: Sanjay Savern