नई दिल्ली, ऑनलाइन डेस्क। टीम इंडिया फिलहाल जिम्बाब्वे दौरे पर है जहां वह 3 मैचों की वनेड सीरीज खेलेगी। इस सीरीज की शुरुआत 18 अगस्त से हो जाएगी। 6 साल बाद टीम इंडिया जिम्बाब्वे का दौरा कर रही है। लेकिन जिम्बाब्वे की मौजूदा हालात देखकर लगता है कि टीम के लिए परिस्थितियां आसान नहीं होने वाली। दरअसल इन दिनों हरारे पानी की संकट से जूझ रहा है।

हरारे के कई कोनों में पिछले तीन दिनों से पानी की समस्या है। लोगों को पीने के पानी के लिए लंबी-लंबी कतारों में लगना पड़ रहा है। इस पानी की समस्या के बीच बीसीसीआइ ने टीम इंडिया को कम पानी खर्च करने की सलाह दी है। इतना ही नहीं बीसीसाआइ ने टीम के खिलाड़ियों से कहा कि खिलाड़ी क्विक शॉवर(quick showers) लें जिससे पानी के बर्बादी से बचा जा सके।

पूल सेशन पर भी लगा ब्रेक

पानी की कमी को देखते हुए टीम के पूल सेशन को भी रोक दिया गया। खिलाड़ियों को यह सलाह इसलिए दी गई कि हर तरह की स्थिति को से बचा जाए जिससे पानी की बर्बादी होती है। बीसीसीआइ के एक अधिकारी ने इनसाइड स्पोर्ट्स के हवाले से कहा कि हां हरारे में पानी की समस्या है और खिलाड़ियों को इस बारे में बता दिया गया है। उन लोगों को कहा गया है किसी भी कीमत में पानी की बर्बादी न करें और जितना हो सके नहाने में पानी कम खर्च करें। पूल सेशन को भी रोक दिया गया है।

दरअसल मॉरटोन जैफरे वाटर ट्रीटमेंट प्लांट से हरारे के लगभग 20 लाख लोगों के घरों में पानी जाता है। यह प्लांट 48 घंटों के लिए बंद रहेगा जिसका मतलब है कि जिम्बाब्वे की राजधानी के लोग इस 48 घंटे के दौरान पानी की समस्या का सामना करेंगे। टीम इंडिया तीन मैचों की सीरीज के लिए जिम्बाब्वे में है जिसकी शुरुआत 18 अगस्त से हो रही है।

Edited By: Sameer Thakur