नई दिल्ली, जेएनएन। भारतीय क्रिकेट टीम इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज के तुरंत बाद दुबई रवाना हो जाएगी जहां उसे एशिया कप में हिस्सा लेना है। हालांकि इस बार एशिया कप में टीम की कमान विराट की जगह रोहित शर्मा के हाथों में होगी। एशिया कप से लेकर अगले वर्ष इंग्लैंड में होने वाले क्रिकेट विश्व कप के बीच भारतीय टीम का कार्यक्रम बेहद व्यस्त है। 

एशिया कप से लेकर विश्व कप के बीच में भारतीय क्रिकेट टीम छह टेस्ट मैच, लगभग 30 वनडे मैच और 9 टी20 मुकाबले खेलेगी। इनमें से भारतीय टीम दो टेस्ट मैच, तीन टी 20 मैच और पांच वनडे मुकाबले अपनी धरती पर खेलेगी वहीं इनके अलावा सारे मुकाबले भारतीय टीम को विदेशी सरजमीं पर खेलनी है। इन सीरीज के खत्म होने के बाद भारतीय खिलाड़ी आइपीएल खेलेंगे और उसके बाद इंग्लैंड के लिए रवाना होंगे जहां उन्हें विश्व कप में हिस्सा लेना है। अब बीसीसीआइ के लिए चिंता या जिम्मेदारी की बात ये है कि किस तरह से भारतीय खिलाड़ियों को विश्व कप के लिए बचा कर रखा जाए जो इन सबसे अहम टूर्नामेंट है। आइए एक नजर डालते हैं एशिया कप से लेकर अगले विश्व कप तक भारतीय टीम के शेड्यूल पर। 

एशिया कप (50 ओवर प्रारूप), 2018 - 15 सिंतबर से 28 सितंबर तक। इसमें भारत को दो ग्रुप मुकाबले, तीन सुपर फोर मैच (अगर टीम क्वालीफाई करती है तो) और फाइनल मुकाबला खेलना पड़ेगा। अगर टीम सुपर फोर के टॉप दो में पहंचती है तो। 

वेस्टइंडीज का भारत दौरा- 2018 - 4 अक्टूबर से 11 नवंबर तक। दो टेस्ट, पांच वनडे, तीन टी20

भारत का ऑस्ट्रेलिया दौरा - 2018/19 - 21 नवंबर 2018 से 18 जनवरी 2019 तक। तीन टी20, चार टेस्ट व तीन वनडे 

भारत का न्यूजीलैंड दौरा - 2019 - 23 जनवरी से 10 फरवरी तक। पांच वनडे, तीन टी20

आइपीएल 2019 - भारतीय खिलाड़ी दो महीने आइपीएल में खेलेंगे

क्रिकेट विश्व कप 2019 - 30 मई से 14 जुलाई तक (50 ओवर प्रारूप)

इस व्यस्त कार्यक्रम में विश्व कप से पहले यानी एशिया कप से लेकर न्यूजीलैंड दौरे के बीच भारतीय टीम को ज्यादा से ज्यादा आराम के लिए सिर्फ 9 दिन मिलेंगे। ऐसे कार्यक्रम के बाद बीसीसीआइ पर इस बात का दबाव है कि किस तरह से इन सभी मैचों के बावजूद भारतीय टीम के खिलाड़ियों को पूरी तरह से फिट रखा जाए या फिर उन्हें ज्यादा थकान ना हो। विराट को एशिया कप में आराम दिया गया और कहा गया कि इतने व्यक्त कार्यक्रम को देखते हुए उन्हें आराम दिया गया। विराट को तो आराम मिल गया लेकिन टीम के अन्य खिलाड़ियों के साथ बीसीसीआइ का रवैया कैसा होगा ये देखने वाली बात होगी।  

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sanjay Savern