मेलबर्न। कुमार संगकारा के शतक और तिलकरत्ने दिलशान की 161 रन की नाबाद पारी के दम पर श्रीलंका ने गुरुवार को विश्व कप में बांग्लादेश को 92 रन से करारी शिकस्त दी। पहले मैच में न्यूजीलैंड से हारने के बाद अफगानिस्तान को दूसरे मैच में बमुश्किल हराने वाली एक बार की चैंपियन और दो बार की उपविजेता श्रीलंकाई टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए एक विकेट पर 332 रन बनाए। जवाब में बांग्लादेश की टीम 47 ओवर में 240 रन ही बना सकी।

एक समय पर बांग्लादेश के पांच विकेट 21वें ओवर में 100 रन पर गिराने के बाद श्रीलंकाई टीम को शाकिब अल हसन (46) और शब्बीर रहमान (53) ने जीत के लिए इंतजार करने पर मजबूर किया। इससे पहले शुरुआती मैच में न्यूजीलैंड के खिलाफ 233 रन पर आउट होने के बाद अफगानिस्तान के खिलाफ 232 रन का लक्ष्य हासिल करने के लिए मशक्कत करने वाली श्रीलंकाई टीम ने आखिरकार उम्दा बल्लेबाजी का मुजाहिरा पेश किया। दूसरी ओर बांग्लादेश की फील्डिंग बेहद खराब थी जिसने पांच मौके गंवा दिए।

दिलशान ने पहले विकेट के लिए लाहिरू थिरिमाने (52) के साथ 122 रन जोड़े। इसके बाद संगकारा के साथ दूसरे विकेट के लिए 210 रन की अटूट साझेदारी की। संगकारा ने अपने 22वें वनडे शतक में 13 चौके और एक छक्का लगाया। दिलशान ने 17वें वनडे शतक में 22 चौके लगाए। थिरिमाने को अर्धशतकीय पारी में तीन जीवनदान मिले। संगकारा उस समय 23 रन पर थे, जब तस्किन अहमद ने उनका रिटर्न कैच छोड़ा। उन्हें रूबेल की गेंद पर फिर जीवनदान मिला। इस बार प्वाइंट में मोमिनुल हक ने उनका कैच टपकाया। बांग्लादेश के लिए तस्किन ने 10 ओवर में 82 रन दे डाले और उन्हें विकेट भी नहीं मिला।

बांग्लादेश की पारी की शुरुआत बेहद खराब रही और दूसरी ही गेंद पर लसिथ मलिंगा ने सलामी बल्लेबाज को बोल्ड कर दिया। उस समय स्कोर बोर्ड पर एक भी रन नहीं टंगा था। सौम्य सरकार (25) और इनामुल हक (29) ने दूसरे विकेट के लिए 40 रन जोड़े। स्कोर बोर्ड में एक रन जुड़ा था कि नए बल्लेबाज मोमिनुल हक ने सुरंगा लकमल की गेंद पर जयवर्धने को कैच थमा दिया। इनामुल और महमूदुल्लाह (28) बड़ी पारियां नहीं खेल सके। शाकिब और मुशफिकुर रहीम ने छठे विकेट के लिए 64 रन की साझेदारी की। शाकिब ने 59 गेंद की पारी में चार चौके और एक छक्का लगाया। निचले क्रम में शब्बीर ने 62 गेंद में सात चौकों की मदद से 53 रन बनाए, लेकिन लक्ष्य इतना बड़ा था कि इस पारी का कोई असर नहीं होना था। श्रीलंका के लिए मलिंगा ने तीन विकेट लिए, जबकि सुरंगा लकमल और तिलकरत्ने दिलशान को दो-दो विकेट मिले।

दिलशान ने बिना छक्के के खेली सबसे बड़ी पारी
बांग्लादेश के खिलाफ विश्व कप मैच में गुरुवार को तिलकरत्ने दिलशान ने अपनी 161 रनों की पारी के दौरान एक अनोखा रिकॉर्ड अपने नाम किया। दिलशान ने अपनी 161 रनों की पारी में एक भी छक्का नहीं लगाया। यह वनडे क्रिकेट में बिना छक्के के बनाया गया सबसे बड़ा स्कोर है। इससे पहले यह रिकॉर्ड दक्षिण अफ्रीका के हाशिम अमला के नाम था, जिन्होंने इसी साल वेस्टइंडीज के खिलाफ अपनी 153 रनों की पारी में 14 चौके तो लगाए थे, लेकिन उसमें एक भी छक्का शामिल नहीं था। दिलशान ने विश्व कप में बिना छक्के के सबसे बड़ी पारी का रिकॉर्ड अपने नाम किया। इससे पहले विश्व कप में बिना छक्का लगाए सबसे बड़ी पारी सचिन ने नामीबिया के खिलाफ 2003 में 152 रन बनाते हुए खेली थी।

संगकारा 400 वनडे खेलने वाले क्लब में शामिल
श्रीलंका के धुरंधर बल्लेबाज कुमार संगकारा ने गुरुवार को 400 वनडे अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने वाले खिलाडि़यों के क्लब में प्रवेश कर लिया। संगकारा ने बांग्लादेश के साथ हुए मैच के साथ अपने करियर में 400 मैच पूरे किए। ऐसा करने वाले वह विश्व के चौथे और श्रीलंका के तीसरे बल्लेबाज हैं। संगकारा से पहले भारत के सचिन तेंदुलकर (463), श्रीलंका के सनत जयसूर्या (445) और श्रीलंका के ही महेला जयवर्धने (444) ने 400 या उससे अधिक मैच खेले हैं। पाकिस्तान के शाहिद अफरीदी (393) इस क्लब में शामिल होने के काफी करीब हैं।

Posted By: Sumit Kumar