कोच्चि। स्पॉट फिक्सिंग के आरोप से मुक्त हुए क्रिकेटर एस श्रीसंत पर से भले ही बीसीसीआइ प्रतिबंध हटाने को तैयार नजर नहीं आ रहा है, लेकिन उनको अपने गृहराज्य केरल की सरकार से हर मदद मिलती नजर आ रही है। सोमवार को केरल सरकार की एक संस्था ने कहा कि वह प्रतिबंध के बावजूद इस तेज गेंदबाज के लिए अपने स्टेडियम के द्वार खोलेगी।

कालूर स्थित जवाहरलाल नेहरू अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम ग्र्रेटर कोचिन विकास प्राधिकरण (जीसीडीए) के अधीन है और उसने टेस्ट मैचों के आयोजन के लिए इसे बीसीसीआइ को 30 सालों के लिए आंशिक लीज पर दे रखा है। जीसीडीए के अध्यक्ष एन वेणुगोपाल ने कहा कि हालांकि श्रीसंत ने स्टेडियम में अभ्यास करने की अनुमति के लिए अभी तक उनसे संपर्क नहीं किया है, लेकिन यदि वह अनुमति मांगेंगे तो हम जरूर देंगे। कांग्र्रेसी नेता वेणुगोपाल ने कहा, 'यदि श्रीसंत हमें संपर्क करते हैं तो, निश्चित ही हम उनके लिए अपने स्टेडियम के द्वार खोल देंगे, क्योंकि वह केरलवासी हैं और क्रिकेट में उन्होंने महत्वपूर्ण योगदान दिया है।

जब उनसे ये कहा गया कि प्रतिबंध की वजह से श्रीसंत केरल क्रिकेट संघ (केसीए) के स्टेडियम में नहीं खेल सकते तो उन्होंने जीसीडीए और केसीए के बीच हुए समझौते का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि अगर किसी टेस्ट मैच से पहले केसीए हमें सूचित करता है कि वह यहां कोई मैच आयोजित कराने जा रहा है, तब हम मैच या पूरे टूर्नामेंट के लिए स्टेडियम उनके हवाले करते हैं। उन्होंने कहा, 'स्टेडियम के मालिक हम हैं। किसे स्टेडियम के अंदर जाने देना है और किसे नहीं, इसका फैसला करने का अधिकार हमारे पास है।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: sanjay savern

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस