नई दिल्ली, एएनआइ। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के अध्यक्ष सौरव गांगुली को बुधवार सीने में दर्ज की शिकायत के बाद अस्पताल ले जाया गया। साल की शुरुआत में उनको दिल का दौरा पड़ा था जिसके बाद वह एंजियोप्लास्टी से होकर गुजरे थे। सौरव की तबीयत सामान्य है और गुरुवार को स्टेंटिंग किया जाएगा।

आज उनको सीने में तकलीफ कि शिकायत थी और आज उन्हें अपोलो ले जाया गया था। डॉक्टर सप्तर्षि बासु और डॉक्टर सुरज मंडल उनको देख रहे हैं। डॉक्टर आफताभ खान कल डॉक्टर देवी शेट्टी की मौजूदगी में उनका स्टेंटिंग करेंगे।

क्या होता है स्टेंटिंग

स्टेंट हृदय रोगियों के लिए बहुत बड़ा वरदान है। ऐसा देखने में आया है कि कई बार हृदय धमनी में 90 प्रतिशत से भी ज्यादा अवरोध होता है और इसके साथ ही साथ हार्ट अटैक भी जारी रहता है। ऐसे वक्त में एक अरजेंट सिचुएशन पैदा हो जाती है और बाईपास सर्जरी की तैयारी करना मुश्किल हो जाता है। ऐसे में स्टेंटिंग से कुछ ही मिनटों में प्रमुख या मेन आर्टरी खोल दी जाती है और एक मरते हुए मरीज को नई जिंदगी मिल जाती है। मेरी राय में मरीज और डॉक्टर का रिश्ता विश्वास की डोर से बंधा होता है। इस विश्वास को टूटना नहीं चाहिए।

इससे पहले दिन के बुलेटिन में सौरव के सेहत पर जानकारी दी गई थी। इसमें अपोलो हॉस्पिटल की तरफ से बताया गया, बुधवार को गांगुली को कार्डियो स्थिति के जुड़े जांच से गुजरना पड़ा। उनके सभी जांच सामान्य पाए गए हैं।

गांगुली को बुधवार ही कुछ हफ्ते पहले उनके एंजियोप्लस्टी के बाद अस्पताल लाया गया था। उनके करीबी ने बताया कि चिंता की किसी तरह की कोई भी बात नहीं है यह बस रूटीन चेक अप था। गौरतलब है कि 2 जनवरी को उनको वुडलैंड अस्पताल में सीने में दर्द की शिकायत के बाद र्ती कराया गया था। सौरव को इंजियोप्लास्टी से होकर गुजरना पड़ा था। 5 दिन अस्पताल में रहने के बाद उनको छुट्टी दे दी गई थी।

 

Ind-vs-End

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप