कोच्चि, आइएएनएस। आइपीएल में स्पॉट फिक्सिंग के आरोपों के बाद बीसीसीआइ का आजीवन प्रतिबंध झेल रहे एस श्रीसंत ने बीसीसीआइ के सीओए के अध्यक्ष विनोद राय के सामने गुहार लगाई है। श्रीसंत ने राय से अपने ऊपर लगे बैन को हटाने की मांग की है। पूर्व सीएजी राय को सुप्रीम कोर्ट ने बीसीसीआइ की प्रशासक समिति का अध्यक्ष बनाया है।

श्रीसंत ने इस बारे में राय को पत्र लिखा है और कहा है कि वह बीसीसीआइ के व्यवहार से काफी दुखी हैं। इससे पहले श्रीसंत ने बीसीसीआइ से स्कॉटलैंड लीग में खेलने की इजाजत मांगी थी। बीसीसीआइ ने उनपर आजीवन प्रतिबंध का हवाला देकर उन्हें खेलने की इजाजत नहीं दी थी। 2015 में दिल्ली उच्च न्यायालय ने श्रीसंत समेत दो और खिलाड़ियों को फिक्सिंग के आरोपों से बरी कर दिया था। इसी वजह से श्रीसंत की बीसीसीआइ से शिकायत बनी हुई है।

बीसीसीआइ में बदले निजाम के बाद राय के हाथों में इस समय बोर्ड की बागडोर है। राय ने आइएएस अधिकारी के तौर पर केरल में लंबे समय तक काम किया है। श्रीसंत को उम्मीद है कि वह उन पर लगे प्रतिबंध को हटा देंगे। श्रीसंत का यह प्रयास अगर विफल भी हो जाता है तो वह अदालत जाने के लिए भी तैयार हैं।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

आजीवन प्रतिबंध के कारण श्रीसंत कोई भी लीग मैच नहीं खेल सकते और न ही बीसीसीआइ या उससे संबंध रखने वाले किसी राज्य संघ के स्टेडियम में अभ्यास कर सकते हैं।

खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Bharat Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस