नई दिल्ली, पीटीआइ। टेस्ट सीरीज से पहले इंग्लैंड दौरे पर पर्याप्त अभ्यास मैच नहीं खेलने के बीसीसीआइ के फैसले पर सवाल उठे थे और अब मुख्य कोच रवि शास्त्री ने बीसीसीआइ से आग्रह किया है कि वह इस साल के अंत में ऑस्ट्रेलिया दौरे पर टेस्ट सीरीज से पहले कुछ अभ्यास मैच आयोजित कराने की व्यवस्था करे।

इंग्लैंड दौरे पर भारत को पांच मैचों की टेस्ट सीरीज में 1-4 से हार का सामना करना पड़ा था। इस सीरीज से पहले भारत ने वहां सिर्फ एक अभ्यास मैच खेला था, जो एसेक्स की काउंटी टीम के खिलाफ था। इंग्लैंड दौरे पर खेला गया यह एकमात्र अभ्यास मैच भी किसी नाटकीय घटना से कम नहीं रहा। मेहमान टीम इस मैच की पिच और आउटफील्ड से खुश नहीं थी, जिसके बाद इस मैच को चार दिन के बजाय तीन दिन का कर दिया गया था।

अब गुरुवार को शास्त्री ने कहा कि अभ्यास मैच खेलने के विचार के खिलाफ नहीं थे। शास्त्री ने ईएसपीएन क्रिकइंफो को दिए साक्षात्कार में कहा, ‘यकीनन नहीं, हम खिलाफ क्यों होंगे? आप सिर्फ (इंग्लैंड में टेस्ट में) परिणाम देख सकते हैं। दूसरे टेस्ट के बाद हमने हर समय सुधार किया। आप अभी भी और बेहतर हो सकते हैं।’

हालांकि, शास्त्री व्यस्त कार्यक्रम के दौरान विदेशी दौरों पर अभ्यास मैच आयोजित कराने को लेकर दुविधा में नजर आए। उन्होंने कहा, ‘यदि आप कमजोर टीम के खिलाफ दो या तीन मैच खेलते हो तो हमें इससे फर्क नहीं पड़ता, क्योंकि यह एक खेल है। लेकिन, जब आपका कार्यक्रम काफी व्यस्त होता है तो आपके पास इसके लिए बहुत कम संभावना होती है। ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज शुरू होने से पहले हमने अधिक से अधिक अभ्यास मैच आयोजित कराने का बोर्ड से अनुरोध किया है। लेकिन, यह देखना दिलचस्प होगा कि क्या वहां पर अभ्यास मैचों के लिए जगह है।’

विराट कोहली ने पर्याप्त अभ्यास मैच नहीं खेलने के उनके फैसले का बचाव किया था। कोहली ने कहा था कि इस तरह के मैच हमेशा उपयोगी नहीं होते, खासतौर से तब जब विरोधी टीमों को स्तर काफी खराब हो या टेस्ट मैच और अभ्यास मैचों की पिच में समानता नहीं हो।

भारतीय टीम का ऑस्ट्रेलिया दौरा 21 नवंबर से तीन मैचों की टी-20 सीरीज के साथ शुरू होगा। शास्त्री ने कहा, ‘टेस्ट सीरीज शुरू होने से पहले हम तीन या चार दिवसीय दो मैच खेलना चाहते हैं। लेकिन क्या आपके पास समय है? उदाहरण के लिए, टेस्ट सीरीज से पहले हमें वहां पर टी-20 सीरीज खेलनी है। टेस्ट मैच शुरू होने से पहले 10 दिन का अंतराल है। ये कुछ चीजें हैं जिन्हें पहले ही मंजूरी दे दी गई है और यह हमारे नियंत्रण में नहीं है।’’

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Pradeep Sehgal

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप