नई दिल्ली, पीटीआइ। भारतीय क्रिकेट टीम के नए कोच की तलाश खत्म हो गई है। टीम इंडिया के मौजूदा कोच रवि शास्त्री का कार्यकाल इस महीने से शुरू हो रहे टी20 विश्व कप के बाद खत्म हो रहा है। इस टूर्नामेंट के बाद वह अपने पद से इस्तीफा दे देंगे। बीसीसीआइ ने इस पद के लिए पूर्व भारतीय दिग्गज बल्लेबाज राहुल द्रविड़ से बात की और वह इस जिम्मेदारी को उठाने के लिए मान गए। साल 2023 विश्व कप तक वह टीम इंडिया के कोच पद को संभालने के लिए राजी हो गए हैं।

पीटीआइ से बीसीसीआइ के अधिकारी ने बात करते हुए कहा, "हां, राहुल द्रविड़ ने 2023 विश्व कप तक के लिए भारतीय क्रिकेट टीम का कोच बनने पर सहमति जताई है। शुरुआत में तो वह इस बात के लिए राजी नहीं थे लेकिन बीसीसीआइ अध्यक्ष सौरव गांगुली और सचिव जय शाह ने इस मामले में राहुल से मुलाकात की और उनको कोच पद की जिम्मेदारी संभालने के लिए मना लिया।"

यह पहला मौका नहीं जब द्रविड़ टीम इंडिया को कोचिंग देने जा रहे हैं।  इससे पहले जब भारत का एक दल इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज खेलने के लिए गया हुआ था तब एक दूसरा दल श्रीलंका में था। इस दौरे पर भारतीय टीम ने टी20 और वनडे मैचों की सीरीज खेली थी। यहां पर राहुल ने टीम इंडिया के मुख्य कोच को तौर पर काम किया था। पूर्व भारतीय कप्तान ने इंडिया ए और अंडर 19 टीम को कोचिंग दी है।

उनकी देख रेख में भारतीय इंडिया ए टीम ने विदेशी धरती पर कामयाबी हासिल की और अंडर 19 टीम ने विश्व कप का खिताब जीता। युवाओं को निखारकर भारतीय की सीनियर टीम तक पहुंचाने का काम द्रविड़ ने किया है। रिषभ पंत, आवेश खान पृथ्वी शा, श्रेयस अय्यर, हनुमा विहारी और शुभमन गिल के अलावा भी कई खिलाड़ियों ने भारतीय टीम तक का सफर तय किया है।

मौजूदा कोच शास्त्री ने पहले ही इस बात की घोषणा कर दी थी कि टी20 विश्व के बाद उनका कार्यकाल खत्म होने पर वह इस्तीफा दे देंगे। वह बीसीसीआइ के साथ अपने करार को आगे बढ़ाने में रूचि नहीं रखते हैं। उनका कहना था कि वह बतौर कोच जो हासिल करना चाहते थे उन्होंने वह सबकुछ ही हासिल कर लिया है। जानकारी के मुताबिक टीम के बल्लेबाजी कोच विक्रम राठौर पद पर बने रहेंगे जबकी गेंदबाजी कोच भरत अरुण के करार को भी आगे नहीं बढ़ाया जाएगा, पारस हम्रे उनकी जगह लेंगें।

Edited By: Viplove Kumar