नई दिल्ली, जेएनएन। स्पॉट फिक्सिंग का भूत पाकिस्तानी क्रिकेट टीम का पीछा नहीं छोड़ रहा है। अब पाकिस्तान टीम से हाल में ही निष्कासित किए गये सलामी बल्लेबाज नासिर जमशेद पर स्पॉट फिक्सिंग का आरोप लगा है। नासिर जमशेद पर पाकिस्तान सुपर लीग में स्पॉट फिक्सिंग मामले में आरोप पत्र जारी किया गया है और 18 मई तक उनसे इस पर जवाब मांगा गया है।

अगर नासिर स्पॉट फिक्संग मामले में अपने खिलाफ दायर अरोप पत्र का जवाब 18 मई तक नहीं देते हैं तो उन पर पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड उन्हें प्रतिबंधित कर सकता है। आपको बता दें कि पाकिस्तान का यह 28 वर्षीय क्रिकेटर पर पर पीसीबी ने पिछले सप्ताह भ्रष्टाचार रोधी पंचाट में आरोप पत्र दायर किया था। नासिर अब ब्रिटेन में रहते हैं।

      

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने इस आरोप पत्र में नासिर पर 6 आरोप लगाए हैं, पीसीबी के वकील तफज्जुल रिजवी ने मीडिया को बताया, ‘स्पॉट फिक्सिंग के मामले में नासिर के पास 18 मई तक जवाब देने के लिए का समय है। अगर नासिर इस दौरान कोई जवाब नहीं देते हैं तो पंचाट इस मामले पर अपना फैसला सुनाएगी। पंचाट के पास 40 दिन के अंदर फैसला सुनाने का अधिकार है।’

IPL की खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

28 वर्षीय बाएं हाथ के सलामी बल्लेबाज नासिर जमशेद ने अपने करियर में 2 टेस्ट मैच, 48 एकदिवसीय मैच और 18 टी20 मैचों में पाकिस्तान का प्रतिनिधित्व किया है। नासिर साल 2015 विश्व कप के दौरान पाकिस्तान क्रिकेट टीम का हिस्सा थे। गौरतलब है कि इसके पहले भी पाकिस्तान सुपर लीग में स्पॉट फिक्सिंग के मामले में कई पाकिस्तानी क्रिकेटरों के नाम आ चुके हैं इससे पहले शरजील खान, खालिद लतीफ और मोहम्मद इरफान का नाम स्पॉट फिक्सिंग में आ चुका है, हालांकि बाद में मोहम्मद इरफान से इन आरोपों को वापस ले लिया गया था।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Ravindra Pratap Sing