कराची। भारत के साथ अगले माह दिसंबर में प्रस्तावित द्विपक्षीय सीरीज न हो पाने की स्थिति में पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) को लगभग 7 करोड़ डॉलर (करीब 4 अरब, 61 करोड़ रुपये) का भारी भरकम नुकसान उठाना पड़ सकता है। यही नहीं, यदि पीसीबी अगले तीन से चार साल के अंदर भारत की मेजबानी करने में नाकाम रहता है तो उसे अपने प्रसारण अनुबंध से लगभग 8 करोड़, 50 लाख डॉलर (करीब 5 अरब, 60 करोड़ रुपये) की आर्थिक क्षति होगी।

दोनों देशों के बीच जारी सियासी खींचतान के चलते क्रिकेट सीरीज खटाई में पड़ गई है। पिछले महीने पीसीबी प्रमुख शहरयार खान ने भारत का दौरा किया था और सीरीज को लेकर बीसीसीआइ अधिकारियों से मुलाकात की थी।

पीसीबी के एक अधिकारी ने बताया, 'यदि भारत दिसंबर में संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में पहले से तय सीरीज नहीं खेलता है तो उसे लगभग 7 करोड़ डॉलर का नुकसान होगा। हमने चार साल के लिए 14 करोड़, 50 लाख डॉलर (करीब 9 अरब, 55 करोड़ रुपये) में प्रसारण करार किया है और स्थिति यह है कि यदि इन चार वर्षों के दौरान हम भारत की मेजबानी नहीं करते हैं तो हमें कुल राशि का लगभग 65 प्रतिशत गंवाना पड़ेगा जो लगभग 5 अरब, 60 करोड़ रुपये का नुकसान होगा। अधिकारी ने कहा कि इसमें संदेह नहीं कि यदि भारत सीरीज की पुष्टि नहीं करता है तो फिर इससे हमें वित्तीय रूप से बड़ा नुकसान होगा।


क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: sanjay savern

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस