कराची, प्रेट्र। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) के चेयरमैन एहसान मनी ने इस बात के संकेत दिए हैं कि उनका देश यानी पाकिस्तान इस साल अपने यहां एशिया कप T20 टूर्नामेंट का आयोजन नहीं कर पाएगा। कराची के नेशनल स्टेडियम में पाकिस्तान सुपर लीग ट्रॉफी के लांच के मौके पर उन्होंने कहा कि एशिया कप के फाइनल वेन्यू का चयन एशियन क्रिकेट काउंसिल के सभी स्टॉक होल्डर्स के बहुमत को ध्यान में रखकर किया जाएगा। उन्होंने कहा कि हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि सहयोगी सदस्यों की कमाई प्रभावित न हो। यह पूर्ण सदस्यों के बारे में नहीं बल्कि सहयोगी सदस्यों के बारे में ज्यादा है। 

एहसान मनी ने कहा कि अब एशियन क्रिकेट काउंसिल (एसीसी) की बैठक मार्च के पहले सप्ताह में की जाएगी और उसी बैठक में इसके फाइनल वेन्यू के साथ-साथ अन्य पहलूओं के बारे में भी फैसला किया जाएगा। पीसीबी की तरफ से ये बयान तब आया है जब भारत ने अपनी टीम को पाकिस्तान भेजने से साफ मना कर दिया है और इसके बाद अब ये टूर्नामेंट किसी न्यूट्रल वेन्यू पर खेला जाएगा। 

भारतीय टीम ने साल 2008 के बाद पाकिस्तान का दौरा नहीं किया है और ना ही इस टीम के साथ साल 2007 के बाद से कोई टेस्ट द्विपक्षीय सीरीज खेली है। भारत ने राजनीतिक और राजनयिक संबंधों में तनाव की वजह से ऐसा किया है। हालांकि पाकिस्तान की टीम साल 2012 में वनडे सीरीज खेलने जरूर आई थी। वहीं पीसीबी के चीफ एक्जक्यूटिव ऑफिसर वसीम खान ने भी ये संकेत दिए कि अगर पाकिस्तान अपने यहां पूरे टूर्नामेंट का आयोजन नहीं कर सकता है तो वो अपने होस्टिंग अधिकार को छोड़ने के लिए तैयार है। उन्होंने कहा कि एक ऐसे वेन्यू का चयन किया जाएगा जिसे हर टीम द्वारा स्वीकार्य हो। साल 2018 में आखिरी एशिया कप यूएई में खेला गया था क्योंकि भारतीय क्रिकेट बोर्ड ने साफ तौर पर मना कर दिया था कि वो पाकिस्तान टीम को होस्ट नहीं करेंगे। 
 

Posted By: Sanjay Savern

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस