बेंगलुरू। भारतीय दिग्गजों सहित दुनिया के करोड़ों क्रिकेट फैंस के साथ-साथ एक ऐसा पक्ष भी रहा जो सचिन की तारीफों पुल बांधने से नहीं चूका। यह एक ऐसी टीम थी जो आमतौर पर ना तो सचिन को पिच पर जमते देखना पसंद करती थी और दोनों टीम की चिर प्रतिद्वंद्विता इस फासले को और बढ़ाती थी लेकिन आज जब सचिन के वनडे से संन्यास की घोषणा हुई तो इस टीम के खिलाड़ी भी वनडे किंग को सलाम करते नजर आए। यह टीम है पाकिस्तान की।

भारत दौरे पर आई पाकिस्तानी टीम ने सचिन के संन्यास पर उनकी उपलब्धियों और उनके स्तर को शब्दों में बयान ना कर पाने की बात कही। पाकिस्तान के तेज गेंदबाज सोहेल तनवीर ने कहा, हर क्रिकेटर की जिंदगी में वह दिन आता है जब उसे यह तय करना होता है कि अब अलविदा का समय आ गया है। भारत के लिए उन्होंने जो कुछ किया है उसे शब्दों में बयान नहीं किया जा सकता। विश्व क्रिकेट में सचिन सर्वोच्च सम्मान के हकदार हैं। तनवीर ने सचिन को शुभकानाएं देते हुए कहा कि उन्हें उम्मीद है कि मास्टर ब्लास्टर अभी टेस्ट में और शतक जड़ेंगे। पाकिस्तान टीम के कप्तान मोहम्मद हफीज ने कहा कि उनकी टीम के खिलाड़ी इस बात से काफी निराश हैं कि वह अब सचिन को मैदान पर नहीं देख सकेंगे। हफीज ने कहा, इमानदारी से कहूं तो हमारी टीम निराश है और सचिन की कमी को महसूस करेगी। मैं उनसे प्रेरणा लेता हूं कि जिस स्तर के वह महारथी रहे हैं। उन्होंने दुनिया के हर गेंदबाज की क्लास लगाई। सचिन एक बेहद शानदार क्रिकेटर हैं और मैं उन्हें भविष्य के लिए शुभकामनाएं देता हूं।

पाकिस्तान के एक और तेज गेंदबाज उमर गुल ने कहा, मुझे पूरा यकीन है कि विराट कोहली और सुरेश रैना जैसे युवा खिलाडि़यों ने सचिन से बहुत कुछ सीखा होगा। दूसरी तरफ पाकिस्तान के नए युवा बल्लेबाज उमर अमीन ने कहा, मैंने भारत के खिलाफ 2010 के एशिया कप में खेला था लेकिन दुर्भाग्यवश सचिन उस सीरीज में नहीं खेल रहे थे। मैं बस एक बात कहना चाहूंगा कि अगर क्रिकेट एक धर्म है तो सचिन जाहिर तौर पर उसके भगवान हैं।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस