नई दिल्ली, जेएनएन। पिछले कुछ सालों से भारतीय टीम के युवा विकेटकीपर बल्लेबाज रिषभ पंत खूब सुर्खियों में हैं। बाएं हाथ के विस्फोटक बल्लेबाज रिषभ पंत ने इंडियन प्रीमियर लीग यानी आइपीएल में अपने फ्री फ्लोइंग अटैकिंग शॉट्स और इच्छाशक्ति के साथ बाउंड्री मारने की अपनी क्षमता से नाम कमाया। इस युवा विकेटकीपर बल्लेबाज को महेंद्र सिंह धौनी के उत्तराधिकारी के रूप में देखा गया है, लेकिन साल 2019 पंत के लिए अच्छा नहीं रहा।

साल 2019 में रिषभ पंत टीम से अंदर-बाहर होते रहे। इसके अलावा अपने प्रदर्शन(बल्लेबाजी और विकेटकीपिंग) की वजह से आलोचकों के निशाने पर भी रहे। हालांकि, आइपीएल 2019 में उन्होंने दमदार प्रदर्शन कर सभी का दिल जीता था और वे कुछ सालों से दिल्ली कैपिटल्स फ्रेंचाइजी के लिए लगातार अच्छा प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों में से एक रहे हैं। आइपीएल में हर टीम जानती है कि अगर पंत मैदान में हैं तो जीतना संभव नहीं है, लेकिन भारतीय टीम के साथ ये बदल जाता है।

आइपीएल में अलग रिषभ पंत और भारतीय टीम के लिए अलग रिषभ पंत, ऐसा क्यों और कैसे होता है? इसका खुलासा दिल्ली कैपिटल्स टीम के असिस्टेंट कोच और पूर्व दिग्गज भारतीय बल्लेबाज मोहम्मद कैफ ने किया है। कैफ ने समझाया है कि क्यों पंत आइपीएल में अच्छा करते हैं और भारत के लिए फ्लॉप हो जाते हैं। पूर्व क्रिकेटर आकाश चोपड़ा ने जब कैफ से पूछा कि पंत आइपीएल में अच्छा खेलते हैं और भारत के लिए खेलते हुए खराब शॉट खेलकर और खराब कीपिंग करके बाहर जाते हैं, ऐसा क्यों होता है? इस पर कैफ ने जवाब दिया है।

मोहम्मद कैफ बताते हैं, "ऋषभ पंत एक फ्री-फ्लोइंग खिलाड़ी हैं। आपको उनकी बल्लेबाजी स्थिति निर्धारित करनी होगी, कि वह इस स्थान पर बल्लेबाजी करेंगे और उसे खेलने के लिए कितने ओवर मिलेंगे। उसे अपने दिमाग में स्पष्ट होने की आवश्यकता होती है कि उसे यह कई ओवर मिलेंगे, ताकि वह यह नहीं सोच रहा है कि क्या उसे सिंगल लेने की आवश्यकता है, या यदि उसे डिफेंड करना है। वह एक अटैकिंग बैट्समैन है, उसे पहली गेंद से ही अटैकिंग शॉट्स मारना शुरू कर देना चाहिए।"

"इसलिए, दिल्ली कैपिटल्स में, मेरे, दादा (सौरव गांगुली) और रिकी पोंटिंग ने कुछ समय तक चर्चा की कि क्या रिषभ पंत को 3 या 4 नंबर पर भेजना है, लेकिन बाद में हमने फैसला किया कि पंत को खेलने के लिए कम से कम 60 गेंदें मिलनी चाहिए। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि वह किस स्थिति में बल्लेबाजी कर रहा है, उसे अंतिम 10 ओवर प्राप्त करने होंगे। यह बात अभी तक भारतीय टीम ने तय नहीं की है, जिसकी वजह से वे फ्लॉप हो रहे हैं," कैफ ने समझाया।

पूर्व भारतीय बल्लेबाज ने कहा है, "वह कभी-कभी 50 ओवर के मैच में 15वें ओवर में बल्लेबाजी करने उतरता है। एक फिनिशर या आक्रमण करने वाले बल्लेबाज को एक ही भूमिका दी जानी चाहिए। भारतीय टीम अभी पंत के बल्लेबाजी स्लॉट का पता नहीं लगा पाई है, लेकिन आइपीएल में हमने इसका पता लगा लिया है। यही कारण है कि उन्होंने आइपीएल में शानदार खेला है, क्योंकि वह एक फ्री-फ्लो क्रिकेट खेलते हैं।"

Posted By: Vikash Gaur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस