नई दिल्ली, जेएनएन। वर्ल्ड कप 2015 के बाद से टीम इंडिया में नंबर चार के लिए एक दमदार बल्लेबाज की तलाश जारी थी, जो वर्ल्ड कप 2019 तक खत्म नहीं हुई। अब इसी स्थान के लिए टीम इंडिया में मनीष पांडे का दावा पुख्ता हो गया है। मनीष पांडे ने वेस्टइंडीज में नंबर चार पर बल्लेबाजी करते हुए शतक ठोककर इस नंबर के लिए दावा पेश किया है। 

टीम इंडिया ए के कप्तान औऱ मिडिल ऑर्डर बैट्समैन मनीष पांडे ने वेस्टइंडीज एक के खिलाफ 86 गेंदों में 100 रन की पारी खेली, जिसमें 6 चौके और 5 छक्के शामिल थे। इतना ही नहीं, टीम इंडिया ने पांच मैचों की इस अनाधिकारिक वनडे सीरीज में वेस्टइंडीज को 3-0 से पछाड़कर सीरीज अपने नाम कर ली है। मनीष पांडे ने साल 2018 में एशिया कप में आखिरी मैच खेला था।

इस मुकाबले में टीम इंडिया ए ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी चुनी थी। पहले बल्लेबाजी करते हुए टीम इंडिया ए ने वेस्टइंडी़ ए के खिलाफ मनीष पांडे के शतक और शुभमन गिल के 77 रन की बदौलत 6 विकेट खोकर 295 रन बनाए। उधर, वेस्टइंडीज की टीम 147 रन पर ढेर हो गई, जिसमें ऑलराउंडर कृणाल पांड्या ने 5 विकेट चटकाए। 

मनीष पांडे के इस शतक के कई मायने हैं। 29 वर्षीय मनीष पांडे ने ऐसे समय पर वेस्टइंडीज में नंबर चार पर शतक जड़ा जब टीम इंडिया अगले महीने इसी टूर पर जा रही है। इस वेस्टइंडीज दौरे के लिए 19 जुलाई को टीम इंडिया का ऐलान होना है। ऐसे में मनीष पांडे, श्रेय अय्यर, कृणाल पांड्या और शुभमन गिल को टीम में आने का मौका मिल सकता है।

Posted By: Vikash Gaur