इंदौर। श्रीलंका के कुमार धर्मसेना का इंदौर के क्रिकेट से स्पेशल कनेक्शन है। वे इंदौरी क्रिकेट के काले दिन और ऐतिहासिक दिन दोनों पलों के मैदान में रहते हुए साक्षी रहे हैं।

8 अक्टूबर 2016 का दिन इंदौर के लिए ऐतिहासिक बन गया, क्योंकि इसी दिन होलकर स्टेडियम में भारत और न्यूजीलैंड के बीच टेस्ट मैच शुरू हुआ। यह इंदौर में आयोजित किए जाने वाला पहला टेस्ट मैच है। कुमार धर्मसेना इस मैच में ऑस्ट्रेलिया के ब्रूस ऑक्सनफोर्ड के साथ मैदानी अंपायर हैं।

अपने समय के दिग्गज ऑफ स्पिनर धर्मसेना इंदौरी क्रिकेट के काले दिन अर्थात 25 दिसंबर 1997 को नेहरू स्टेडियम में भारत और श्रीलंका के बीच रद्द हुए अंतरराष्ट्रीय वन-डे मैच में खेले थे। नेहरू स्टेडियम की पिच खराब होने के कारण यह मैच 3 ओवरों बाद रद्द कर दिया गया था। वैसे धर्मसेना को इस मैच में मैदान में अपना करिश्मा दिखाने का मौका नहीं मिला था। इस घटना के चलते इंदौर को अंतरराष्ट्रीय मैचों के आयोजन से दो वर्ष के लिए प्रतिबंधित कर दिया गया था।

45 वर्षीय धर्मसेना ने 11 वर्षों के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर में 31 टेस्ट मैचों में श्रीलंका का प्रतिनिधित्व कर 19.72 की औसत से 868 रन बनाए और 42.31 की औसत से 69 विकेट लिए। उन्होंने 141 वन-डे में 42.31 की औसत से 1222 रन बनाने के साथ ही 36.21 की औसत से 138 विकेट झटके थे।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस