शिवम् अवस्थी, नई दिल्ली, [स्पेशल डेस्क]। कुछ ही दिन पहले हमने अपनी एक खबर (जरा इन पर भी ध्यान दीजिए.....) के जरिए आपका ध्यान भारत की अंडर-19 क्रिकेट टीम की तरफ खींचने का प्रयास किया था। इसका मकसद सिर्फ इतना था कि सिर्फ विराट सेना को नहीं बल्कि उन युवा खिलाड़ियों को भी प्रोत्साहन मिले जो आने वाले दिनों में भारतीय क्रिकेट की शान बन सकते हैं। विराट भी कभी उन्हीं में से एक थे। पिछली बार हमने आपको कमलेश नागरकोटी के प्रदर्शन के बारे में बताया था जबकि इस बार दो अन्य खिलाड़ियों के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्होंने दूसरे टेस्ट में सबको हैरान किया है।

- ढेर हो चुकी थी भारतीय टीम

इंग्लैंड के वूस्टरशर में खेले जा रहे दूसरे अंडर-19 टेस्ट मैच में भारत पहले बल्लेबाजी करने उतरा था लेकिन शीर्ष के बल्लेबाज कुछ इस तरह लड़खड़ाए कि 106 रन पर हम अपने 7 विकेट गंवा चुके थे। भारतीय टीम ने अपना पहला विकेट 21 रन पर गंवाया था यानी 85 रन के अंदर इंग्लैंड के गेंदबाजों ने भारत के सात बल्लेबाजों को पवेलियन का रास्ता दिखा दिया था। निचले क्रम में अब कोई करिश्माई प्रदर्शन ही भारतीय टीम को मुसीबत से बाहर निकाल सकता था।

- .....और इन दोनों ने बदल दी दशा व दिशा

ऐसे समय पर आठवें नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरे 18 वर्षीय खिलाड़ी शिवम् मावी ने मोर्चा संभाला और पारी को संयमित अंदाज में धीरे-धीरे आगे बढ़ाया। उन्होंने राहुल चहार के साथ आठवें विकेट के लिए 63 रनों की साझेदारी तो की लेकिन चहार 25 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। भारत फिर मुश्किल में था क्योंकि 169 रन पर आठ विकेट गिर चुके थे और किसी भी समय पारी सिमट सकती थी..लेकिन फिर शुरू हुआ असली धमाल.....पिच पर पहले से टिके हुए शिवम् मावी का साथ देने दसवें नंबर पर मैदान में आए 16 साल के अशोक संधू। दोनों ने मिलकर ऐसी बल्लेबाजी की जिसने इंग्लैंड के गेंदबाजों के पसीने छुड़ा दिए। शिवम् मावी ने 156 गेंदों पर नौ चौकों की मदद से नाबाद 86 रन बनाए जबकि अशोक संधू ने विपरीत परिस्थिति में 99 गेंदों पर छह चौकों की मदद से 50 रन बनाए। दोनों ने नौवें विकेट के लिए 97 रनों की ऐसी लाजवाब साझेदारी खड़ी कर दी, कि एक समय जो भारतीय टीम 106 रन पर सिमटने वाली थी, उसने 292 रनों का सम्मानजनक स्कोर खड़ा कर दिया।

- बस यहीं नहीं रुके ये दोनों.. 

इसके बाद इंग्लैंड की टीम बल्लेबाजी करने उतरी तो शिवम् मावी और अशोक संधू यहां भी थमते नजर नहीं आए। वे हर क्षेत्र में अपनी छाप छोड़ने को बेताब थे। शिवम् मावी ने गेंदबाजी करते हुए एक विकेट लिया तो फील्डिंग करते हुए ओपनर ब्रुक को रन आउट किया जबकि एक खिलाड़ी को कैच आउट भी किया। वहीं, अशोक संधू ने पांच मेडन ओवर करते हुए 16 ओवर में 66 रन देकर दो अहम विकेट लिए जिसमें इंग्लैंड के ओपनर व कप्तान होल्डेन और स्टार विकेटकीपर बल्लेबाज स्विंडेल्स शामिल थे। कमलेश नागरकोटी ने इस मैच में भी पिछली बार की तरह अपनी छोप छोड़ी और तीन विकेट लिए। नतीजतन भारत ने इंग्लैंड को पहली पारी में 284 रन पर समेट दिया। अब दूसरी पारी का खेल जारी है।

- कौन हैं शिवम् और अशोक?

26 नवंबर 1998 को नोएडा (उत्तर प्रदेश) में जन्मे शिवम् मावी एक दाएं हाथ के मध्यम-तेज गति गेंदबाज हैं, हालांकि वो अपनी बल्लेबाजी से भी दिल जीतने का दम रखते हैं। पहले टेस्ट मैच में भी उन्होंने दूसरी पारी में नाबाद 41 रनों की पारी खेलने के साथ-साथ कुल 6 विकेट लिए थे। शिवम ने अब तक एक भी प्रथम श्रेणी क्रिकेट मैच नहीं खेला है। वहीं, 11 अक्टूबर 2000 को कैथल (हरियाणा) में जन्मे अशोक संधू की पहचान एक बाएं हाथ के स्पिनर के रूप में की जाती है। जबकि वो दाएं हाथ के बल्लेबाज हैं। अशोक ने हरियाणा की तरफ से दो प्रथम श्रेणी क्रिकेट मैच भी खेले हैं जिसमें उनके नाम चार विकेट दर्ज हैं। 

Posted By: Shivam Awasthi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस