नई दिल्ली, ऑनलाइन डेस्क। आयरलैंड के ऑलराउंडर केविन ओब्रायन ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया है। इसके साथ ही 38 साल के ओब्रायन के 16 साल लंबे करियर पर विराम लग गया है। उन्होंने अपने देश के लिए 152 वनडे और 109 टी20 मैच खेले हैं। वनडे क्रिकेट में उनके नाम 3,619 और टी20 क्रिकेट में 1,973 रन हैं। इसके अलावा ओब्रायन ने 3 टेस्ट मैच भी खेले हैं। उन्होंने अपना आखिरी वनडे मैच जून 2021 को नीदरलैंड के खिलाफ जबकि आखिरी टी20 मैच अक्टूवर 2021 में नामीबिया के खिलाफ खेला था।

ओब्रायन ने अपना वनडे डेब्यू 2006 में इंग्लैंड के खिलाफ किया था। पहले ही मैच में उन्होंने अपनी बल्लेबाजी से साबित कर दिया था कि वह लंबी रेस के घोड़े हैं। उन्होंने उस मैच में 8 नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए 48 गेंदों पर 35 रन बनाए थे। केविन ने 2007 वर्ल्ड कप में लगातार अच्छा प्रदर्शन किया था। उन्होंने 8 मैचों में 170 बनाने के अलावा 3 विकेट भी हासिल किए थे।

ओब्रायन का इंग्लैंड के खिलाफ वर्ल्ड कप 2011 में खेली गई पारी हमेशा क्रिकेट फैंस को याद रहेगी जब उन्होंने वर्ल्ड कप में अपनी टीम को मुश्किल परिस्थिति से निकालते हुए जीत दिलाई थी। 111 रन पर 5 विकेट खो देने वाली आयरलैंड की टीम ने 327 रनों का पीछा करते हुए तीन विकेट से जीत दर्ज की थी। उस मैच मे ओब्रायन ने 50 गेंदों पर शतक लगाया था जो वर्ल्ड कप इतिहास का तेज शतक है। उन्होंने उस मैच में 63 गेंदों पर 113 रन बनाए थे।

उन्होंने सोशल मीडिया के माध्यम से इस बात की जानकारी साझा करते हुए लिखा है कि मैं टी20 वर्ल्ड कप खेलना चाहता था लेकिन टीम में मुझे जगह नहीं मिली। लगता है आयरलैंड टीम मैनेजमेंट और सेलेक्टर्स कुछ और ही सोच रहे हैं। इस मौके पर मैं अपने सभी साथी खिलाड़ियों, कोचों और फैंस का धन्यवाद कहना चाहता हूं।

Edited By: Sameer Thakur