नई दिल्ली, जेएनएन। इंडियन प्रीमियर लीग की फ्रेंचाइजी टीम कोलकाता नाइटराइडर्स के लिए राहत भरी खबर है। कुछ मैच पहले गेंदबाजी एक्शन को लेकर आपत्ति जताए जाने के बाद अब स्पिनर सुनील नरेन को हरी झंडी दे दी गई है। आइपीएल की गेंदबाजी एक्शन कमेटी ने उनकी गेंदबाजी को सही पाया है और उनका नाम संदिग्ध एक्शन वाले गेंदबाजों की लिस्ट से हटाने का फैसला किया है।

कोलकाता के स्पिनर नरेन के गेंदबाजी के एक्शन के खिलाफ अबूधाबी में 10 अक्टूबर को किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ खेले गए मुकाबले के बाद फील्ड अंपायर द्वारा शिकायत की गई थी। इस शिकायत के बाद उनका नाम आइपीएल की चेतावनी वाली लिस्ट में डाल दिया गया था। इसका मतलब यह था कि और एक बार एक्शन पर सवाल उठाए जाने पर उनको टूर्नामेंट से बैन किया जा सकता था। अंपायर की शिकायत के बाद से खेले गए मुकाबलों में नरेन टीम का हिस्सा नहीं थे।

फिर विवादों में IPL, ड्रेसिंग रूम में स्मोकिंग करते नजर आए बैंगलोर के ओपनर आरोन फिंच

कोलकाता ने नरेन की गेंदबाजी एक्शन को लेकर आइपीएल सस्पेक्ट बॉलिंग एक्शन कमेटी से आधिकारिक मूल्यांकन के लिए अनुरोध किया था। टीम की तरफ से नरेन की गेंदबाजी एक्शन की स्लो मोशन फुटेज जमा कराया गया था। इसमें बैक और साइड एंगल से उनकी गेंदबाजी का वीडियो था।

नरेन के गेंदबाजी एक्शन को कमेटी ने बेहद बारिकी से अध्यन किया और पाया कि उनकी कोहनी जितना घूमती है वो नियम के दायरे में आता है। इस कमेटी ने इस बात को भी साफ कर दिया है कि नरेन उसी पुराने एक्शन से गेंदबाजी कर सकते हैं जिससे वो इस आइपीएल में गेंदबाजी कर रहे थे।

नरेन ने आखिरी ओवर में दिलाई थी जीत

किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ गेंदबाजी एक्शन की शिकायत किए जाने से पहले मुकाबले में आखिरी ओवर में टीम को जीत दिलाई थी। आखिरी ओवर में पंजाब को जीत के लिए 14 रन की जरूरत थी नरेन ने 11 रन देकर मैच में कोलकाता को 2 रन से रोमांचक जीत दिलाई थी। 

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस