नई दिल्ली, प्रेट्र। आइपीएल का 13वां सत्र अगले महीने यूएई में खेला जाना है। इसके लिए टीमें यूएई में छह की बजाय तीन दिन का क्वारंटाइन चाहती हैं। इसके अलावा पूर्व सूचना के साथ टीम और पारिवारिक डिनर के आयोजन के लिए उन्होंने बोर्ड की अनुमति भी मांगी है। बीसीसीआइ के एक अधिकारी ने कहा कि इसके साथ ही टीमों ने होटल में बाहर से संपर्क रहित (कॉन्टैक्ट लैस) खाने की डिलीवरी की अनुमति का भी अनुरोध किया है। इस पर बुधवार की शाम टीम मालिकों और आइपीएल अधिकारियों की बैठक में बात की जाएगी।

अधिकारी ने कहा कि ज्यादातर खिलाडि़यों ने छह महीने से क्रिकेट नहीं खेला है तो वे ज्यादा से ज्यादा अभ्यास करना चाहते हैं। चिकित्सा विशेषज्ञों की सलाह के आधार पर क्या हम आइसोलेशन छह की बजाय तीन दिन का कर सकते हैं। बीसीसीआइ ने टीमों को 20 अगस्त के बाद ही यूएई रवाना होने के लिए कहा है। चेन्नई सुपरकिंग्स समेत कुछ टीमें जल्दी जाना चाहती थीं। इसमें यह भी कहा गया, क्या टीमों को 20 की बजाय 15 अगस्त के बाद जाने की अनुमति दी जा सकती है ताकि उन्हें अभ्यास और तैयारी के लिए उचित समय मिल सके।

एसओपी के अनुसार खिलाड़ियों और टीम मालिकों के परिवार आइपीएल के दौरान संक्रमण से सुरक्षित माहौल में ही रहेंगे। टीमें चाहती हैं कि बोर्ड इसकी समीक्षा करे। उन्होंने कहा कि मौजूदा एसओपी के अनुसार वे टीम के साथ संपर्क नहीं कर सकते जब तक बायो सिक्योर (खिलाड़ियों को खेलने के लिए बनाए गए नियम के तहत) माहौल का हिस्सा नहीं हों। टीम मालिक तीन महीने तक बायो सिक्योर माहौल में नहीं रह सकेंगे। इसलिए चिकित्सा सलाह के आधार पर मालिकों और परिवार के साथ विशेष प्रोटोकॉल बनाया जा सकता है।

यूएई में क्वारंटाइन के दौरान खिलाड़ियों को टीम के दूसरे सदस्यों से भी बातचीत की अनुमति नहीं रहेगी। वे तीन कोविड टेस्ट होने के बाद ही ऐसा कर सकेंगे। टीमों ने यह भी जानना चाहा है कि क्या खिलाड़ी अपनी-अपनी टीमों के प्रति व्यावसायिक दायित्वों का निर्वाह भी कर सकेंगे, जिसके लिए उन्हें शूटिंग और लोगों से मिलना पड़ सकता है।

Aus-vs-Ind

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021