मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

नागपुर, पीटीआइ। India vs Australia, ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दूसरे वनडे मैच में शानदार प्रदर्शन के बाद ऑलराउंडर विजय शंकर की विश्व कप (ICC World Cup 2019) टीम में जगह बनाने की संभावना बढ़ गई है। हालांकि, इसे लेकर उन्होंने कहा कि वह अपने चयन को लेकर अपनी नींद नहीं खो रहे हैं।

ऑस्ट्रेलिया को दूसरे वनडे के अंतिम ओवर में जीत के लिए 11 रन और भारत को दो विकेट की जरूरत थी। इस नाजुक हालात में कप्तान कोहली ने विजय शंकर को गेंद थमाई। शंकर ने इसके बाद तीन गेंदों में मार्कस स्टोइनिस और एडम जांपा का विकेट लिया और भारत यह मैच 8 रनों से जीत गया।

तमिलनाडु के इस ऑलराउंडर जीत के बाद कहा, 'मैंने पहले भी कहा था कि मैं कभी चयन या विश्व कप जैसी चीजों के बारे में नहीं सोचता, क्योंकि इसमें अब भी काफी समय बचा है। हर मुकाबला महत्वपूर्ण है। मैं सिर्फ अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास करता हूं और इसी तरह से टीम को मैच जीतना चाहता हूं।'

शंकर ने कहा कि पिछले साल श्रीलंका में Nidahas Trophy का फाइनल मैच उनके लिए एक बड़ी सीख थी। इस मैच के दौरान उन्हें स्ट्राइक रोटेट करने के लिए संघर्ष करना पड़ा था। 

विजय ने कहा, ईमानदारी से कहूं तो Nidahas Trophy ने मुझे बहुत सारी चीजें सिखाई। वास्तव में, मैंने इससे सीखा कि कैसे किसी भी स्थिति में तटस्थ रहना है। उतार हो या चढ़ाव, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता। मुझे हमेशा धैर्य रखना होगा।'

'मैं इस चुनौती के लिए तैयार था, क्योंकि मैं जानता था कि मुझे एक ओवर फेंकना होगा। मैं 43 वें 44 वें ओवर के बाद सोच रहा था कि मुझे कभी भी गेंदबाजी करने को कहा जा सकता है। इस वजह से मैं अंतिम ओवर में गेंदबाजी करने के लिए पहले से ही मानसिक रूप से तैयार था।'

युवा ऑलराउंडर ने कहा कि अनुभवी जसप्रीत बुमराह ने अंतिम ओवर के दौरान उन्हें निर्देशित किया। विजय ने बताया, '48 वें ओवर के बाद बुमराह मेरे पास आए और कहा कि गेंद थोड़ी रिवर्स हो रही है। मुझे इस विकेट पर केवल सही लेंथ पर गेंद करने की जरूरत है।'

Posted By: Tanisk

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप