दुबई, पीटीआइ। भारत में टैक्स में छूट नहीं मिलने पर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आइसीसी) चैंपियंस ट्रॉफी 2021 की मेजबानी का अधिकार वापस ले सकता है। आइसीसी ने इसके आयोजन के लिए ऐसे वैकल्पिक देशों की तलाश भी शुरू कर दी है जहां का समय क्षेत्र भारत से मिलता जुलता हो। आइसीसी की शुक्रवार को आयोजित साल की पहली बोर्ड बैठक के बाद इस बात पर चिंता गई की उसके आयोजनों पर भारतीय सरकार टैक्स में छूट नहीं दे रही।

इस वैश्विक संस्था ने हालांकि कहा कि वे बीसीसीआइ के जरिये सरकार से बातचीत जारी रखेंगे। आइसीसी ने चिंता जाहिर की कि उसके और बीसीसीआइ की कोशिशों के बाद भी भारत में होने वाले आइसीसी आयोजनों पर सरकार टैक्स छूट नहीं दे रही है। दुनिया में किसी भी बड़े खेल आयोजन पर टैक्स छूट दी जाती है। शीर्ष क्रिकेट निकाय ने कहा कि बीसीसीआइ की मदद से आइसीसी इस मसले को सुलझाने के लिए सरकार से बातचीत के साथ ऐसे वैकल्पिक देश की तलाश कर रही है जिसका समय क्षेत्र भारत से मिलता जुलता हो।

रिपोर्ट के मुताबिक अगर इस बड़े आयोजन के लिए टैक्स छूट नहीं मिलती है तो आइसीसी को 10 करोड़ डॉलर (640 करोड़ रुपये) का नुकसान ङोलना पड़ सकता है। इससे पहले पिछले साल दिसंबर में बीसीसीआइ ने 2021 में चैंपियंस ट्रॉफी और 2023 में विश्व कप की मेजबानी की घोषणा की थी। अगर भारत में चैंपियंस ट्रॉफी नहीं होती है तो बेशक भारतीय प्रशंसकों को इससे मायूसी जरूर होगी।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

By Pradeep Sehgal