मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

मेलबर्न, जेएनएन। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच तीसरा टेस्ट मैच मेलबर्न में 26 दिसंबर से खेला जाना है। इस टेस्ट मैच से पहले टीम इंडिया के कई खिलाड़ियों को चोट ने परेशान किया हुआ है। इन खिलाड़ियों में आर. अश्विन, रवींद्र जडेजा और रोहित शर्मा सरीखे खिलाड़ी शामिल हैं। अब टीम इंडिया के कोच रवि शास्त्री ने इन चोटिल खिलाड़ियों को लेकर अपडेट दिया है।

अश्विन पर 48 घंटे रखी जाएगी नज़र

स्पिनर रविचंद्रन अश्विन को लेकर रवि शास्त्री ने कहा कि अश्विन अभी तक इस चोट से पूरी तरह उबरे नहीं है और उनकी स्थिति पर अगले 48 घंटे नजर रखी जाएगी। अश्विन मांसपेशियों में खिंचाव के चलते दूसरे टेस्ट मैच में भी नहीं खेल पाए थे और भारत को उस मैच में हार का सामना करना पड़ा था। ऑस्ट्रेलिया ने पर्थ टेस्ट 146 रनों से जीतकर टेस्ट सीरीज में बराबरी की थी।

रोहित शर्मा हैं फिट

भारतीय कोच रवि शास्त्री ने रोहित शर्मा की चोट को लेकर कहा कि वो चोट से उबर चुके हैं, लेकिन उन्हें मैच फिटनेस हासिल करनी होगी। उन्होंने बहुत अच्छा सुधार किया है। लेकिन फिर हमें यह देखना होगा कि वह कल तक और कितने बेहतर हो पाते हैं।

पांड्या को लेकर ये बोले शास्त्री

हार्दिक पांड्या पहले दो टेस्ट मैच में नहीं खेल सके थे, लेकिन तीसरे और चौथे टेस्ट मैच के लिए चयनकर्ताओं ने उनका चयन किया है। पांड्या पहले दो टेस्ट मैच में कमर की चोट से उबर रहे थे, उन्हें ये चोट चैंपियंस ट्रॉफी में पाकिस्तान के खिलाफ खेले गए मैच में लगी थी। उसके बाद से पांड्या अभी तक अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट नहीं खेल सके हैं। उनके फिट होने को लेकर रवि शास्त्री ने कहा कि पांड्या पूरी तरह से फिट है।

इसके साथ ही शास्त्री ने कहा कि पांड्या का टीम में होना आपको विकल्प देता है। चोट से उबरने के बाद हालांकि उन्होंने अधिक प्रथम श्रेणी क्रिकेट नहीं खेला है। उन्होंने चोट के बाद सिर्फ एक मैच खेला है। ये तय करने से पहले कि उन्हें तीसरे टेस्ट में मौका देना है या नहीं हमें थोड़ा सावधान रहना होगा।

जडेजा का कंधा हो पाएगा फिट?

कोच शास्त्री ने बताया कि जडेजा पर टीम मैनेजमेंट ने नज़र बनाई हुई है। जडेजा नेट्स में गेंदबाज़ी तो कर रहे हैं, लेकिन उनकी कंधे की चोट से भी कितना उबर पाए हैं, ये भी देखना होगा। आपको बता दें कि जडेजा को ऑस्ट्रेलिया पहुंचने के बाद कंधे में इंजेक्शन लगाना पड़ा था और वे पर्थ टेस्ट के समय 70-80 प्रतिशत फिट थे, इसलिए हमने उन्हें मैदान में उतारने का जोखिम नहीं उठाया था। 

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Pradeep Sehgal

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप