नई दिल्ली, एएनआइ। भारतीय टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर ने विश्व कप में भारत- पाक मैच को लेकर बड़ा बयान दिया है। गंभीर ने कहा कि इन दोनों देशों के बीच होने वाले मैच पर बीसीसीआइ को फैसला लेना होगा। हालांकि, भारत को मैच नहीं खेलना चाहिए। एक मैच न खेलने से कोई फर्क नहीं पड़ेगा। मेरे लिए किसी मैच से ज्यादा जवान महत्वपूर्ण हैं। देश पहले आता है।'  

पुलवामा आतंकी हमले (Pulwama Terror Attack) के बाद भारत के हरभजन सिंह और सौरव गांगुली जैसे प्रमुख खिलाड़ियों ने इस बीसीसीआइ से इस मैच का बहिष्कार करने का आग्रह किया है। हालांकि, सचिन तेंदुलकर और सुनील गवास्कर जैसे कुछ खिलाड़ी कह रहे हैं कि भारत को यह मैच खेलना चाहिए। पाक को ऐसे ही अंक नहीं दिया जाना चाहिए। इसके बाद दोनों की काफी आलोचना हुई थी।  

इसे लेकर बीसीसीआइ ने पाकिस्तान को विश्व कप से बाहर कराने के लिए आइसीसी को पत्र लिखा था। इसके बाद आइसीसी ने कहा कि उसकी इन मामलों कोई भूमिका नहीं है और इस मांग को ठुकरा दिया। हालांकि, बीसीसीआई के पत्र में पाकिस्तान का कोई विशेष संदर्भ नहीं था, जिसमें भारत द्वारा आतंकवादियों को शरण देने का आरोप लगाया गया है। इस बैठक में सचिव अमिताभ चौधरी ने बीसीसीआइ का प्रतिनिधित्व किया था।

आइसीसी ने कहा कि सदस्य देशों के कई खिलाड़ी पाकिस्तान सुपर लीग (PSL) में खेलते हैं और उन्होंने इस तरह का अनुरोध कभी नहीं किया। हां, सुरक्षा एक चिंता का विषय है और इसे लेकर पहले ही चर्चा हो चुकी है

Posted By: Tanisk