नई दिल्ली, पीटीआइ। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आइसीसी) बोर्ड की आज यानी गुरुवार को जब टेलीकांफ्रेंस के जरिए बैठक होगी तो उसमें ऑस्ट्रेलिया में इस साल होने वाले ICC T20 विश्व कप को 2022 तक स्थगित करने और अक्टूबर में इंडियन प्रीमियर लीग (आइपीएल) के आयोजन को औपचारिक रूप दिए जाने की संभावना है। हालांकि, आइसीसी के प्रवक्ता ने बुधवार को ही साफ कर दिया था कि अभी कोई आधिकारिक ऐलान नहीं हुआ है। आखिरी फैसला बोर्ड मीटिंग में यानी आज होगा। 

कोविड-19 महामारी के कारण बनी परिस्थितियों में अगर इसे औपचारिक रूप दे दिया जाता है तो इस फैसले से सदस्यों को आगामी महीनों के लिए अपनी द्विपक्षीय सीरीज का खाका तैयार करने में मदद मिलेगी। आइसीसी बोर्ड के एक अधिकारी ने गोपनीयता की शर्त पर कहा कि इसकी पूरी संभावना है कि गुरुवार को होने वाली बैठक के दौरान टी-20 विश्व कप को स्थगित करने का फैसला किया जाए, लेकिन सवाल यह है कि वहां औपचारिक घोषणा की जाएगी या नहीं।

उन्होंने कहा कि वर्तमान परिस्थितियों में टी20 विश्व कप के आयोजन की बहुत कम संभावनाएं है। मुझे नहीं लगता कि क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया या अन्य शीर्ष क्रिकेट बोर्ड को इससे परेशानी होगी। इससे पहले रिपोर्ट में सामने आया था कि क्रिस टेटले की अगुआई वाली आइसीसी प्रतियोगिता समिति कई विकल्प सामने रखेगी और इसमें एक विकल्प यह हो सकता है कि सदस्य ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टूर्नामेंट को अक्टूबर-नवंबर 2022 तक स्थगित कर सकते हैं, जबकि भारत 2021 में पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार टी20 विश्व कप की मेजबानी करेगा।

इसका यह भी निष्कर्ष निकाला जा सकता है कि भारत इस साल के आखिर में ऑस्ट्रेलिया का दौरा करेगा, क्योंकि सदस्य देश महामारी के कारण पैदा हुए वित्तीय संकट से उबरने के लिए द्विपक्षीय सीरीज को प्राथमिकता दे सकते हैं। बोर्ड के सदस्य ने यह भी कहा कि यह केवल सदस्य देशों से ही नहीं बल्कि प्रसारक स्टार स्पो‌र्ट्स से जुड़ा मुद्दा भी है जिसके पास संयोग से आइसीसी प्रतियोगिताओं के साथ-साथ भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआइ) और आइपीएल के भी प्रसारण अधिकार हैं।

बीसीसीआइ प्रसारण करार से जुड़े एक सूत्र ने कहा कि कुछ सवाल है जिन पर गौर करने की जरूरत है। इनमें फरवरी-मार्च 2021 में टी-20 विश्व कप के आयोजन की व्यवसायिक व्यवहार्यता है। इससे पहले अक्टूबर-नवंबर में आइपीएल का आयोजन फिर अगला आइपीएल मार्च से मई के बीच आयोजित करना शामिल है। उन्होंने कहा कि इस तरह से हम छह महीने के अंदर तीन बड़ी प्रतियोगिताओं के आयोजन पर ध्यान दे रहे हैं। उन्होंने उन द्विपक्षीय सीरीज का जिक्र किया जिन पर बीसीसीआइ सहमति जताएगा।

सूत्र ने कहा कि भारत निश्चित तौर पर ऑस्ट्रेलिया जाएगा और इंग्लैंड पांच मैचों की टेस्ट सीरीज के लिए भारत आएगा। जहां तक दक्षिण अफ्रीका में टी-20 सीरीज का सवाल है तो यह दक्षिण अफ्रीका को फैसला करने दो कि जहां तक आइसीसी के नीतिगत मामले हैं, उनमें उसकी स्थिति क्या है। आइपीएल का आयोजन भारत में उस समय कोविड-19 की स्थिति पर निर्भर करेगा। केंद्र सरकार स्थिति को सामान्य करने की कोशिश कर रही है और ऐसे में यह टूर्नामेंट पांच सप्ताह के अंदर आयोजित किया जा सकता है।

आइसीसी बोर्ड भारत में होने वाले टी20 विश्व कप 2021 में करों के छूट के मसले पर भी चर्चा कर सकता है। बीसीसीआइ ने लॉकडाउन के कारण इस पर सरकार का स्पष्ट रवैया जानने के लिए और समय देने के लिए कहा है। आइसीसी के नए चेयरमैन के लिए नामांकन प्रक्रिया जल्द ही शुरू होगी। इंग्लैंड एंव वेल्स क्रिकेट बोर्ड के पूर्व चेयरमैन कोलिन ग्रेव्स को इस पद का प्रमुख दावेदार माना जा रहा है लेकिन बीसीसीआइ अध्यक्ष सौरव गांगुली भी इसकी दौड़ में शामिल हो सकते हैं।

Posted By: Vikash Gaur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस