नई दिल्ली, जेएनएन। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद यानी आइसीसी ने सोमवार 27 जुलाई 2020 को आधिकारिक तौर पर पहली ICC क्रिकेट विश्व कप सुपर लीग का शुभारंभ किया है। साउथैंप्टन के एजेस बाउल स्टेडियम में 30 जुलाई 2020 से मेजबान और विश्व चैंपियन इंग्लैंड की टीम का सामना तीन मैचों की वनडे सीरीज में आयरलैंड से होगा। इसी के साथ क्रिकेट वर्ल्ड कप सुपर लीग की शुरुआत भी हो जाएगी, जो कि वर्ल्ड कप 2023 के क्वालीफायर मैचों के तौर पर होगी।

वनडे इंटरनेशनल (ODI) क्रिकेट के संदर्भ में लाने के लिए शुरू की गई सुपर लीग ICC मेंस क्रिकेट विश्व कप 2023 के लिए क्वालिफिकेशन का निर्धारण करेगी, जिसमें आइसीसी रैंकिंग के हिसाब से शीर्ष सात टीमों को जगह मिलेगी, जबकि मेजबान होने के नाते भारतीय टीम को इवेंट के लिए सीधे क्वालीफाई करने का मौका मिलेगा। शीर्ष की 7 टीमों के साथ एक मेजबान टीम(भारत) के अलावा दो अन्य टीमें भी क्वालीफायर्स के जरिए ये वर्ल्ड कप खेलेंगी।

13 टीमें, जिसमें 12 आइसीसी के पूर्ण सदस्य हैं, जबकि एक नीदरलैंड की टीम शामिल है, जिसने आइसीसी विश्व क्रिकेट सुपर लीग 2015-17 जीतकर क्वालीफाई किया था। इन टीमों को सुपर लीग के तहत 2023 तक चार 3-3 मैचों की सीरीज घर में और चार सीरीज विदेशी सरजमीं पर 3-3 मैचों की खेलनी हैं। उस रैंकिंग के आधार पर इन टीमों को आइसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप 2023 के लिए क्वालीफाई करने का मौका मिलेगा।

लॉन्च के बारे में बात करते हुए आइसीसी महाप्रबंधक ज्योफ अलार्डिस ने कहा है, "हम आयरलैंड के खिलाफ विश्व कप विजेता इंग्लैंड के साथ आइसीसी पुरुष क्रिकेट विश्व कप सुपर लीग के आयोजन के लिए खुश हैं। यह लीग अगले 3 वर्षों में वनडे क्रिकेट के लिए प्रासंगिकता और संदर्भ लाएगी, क्योंकि आइसीसी पुरुष क्रिकेट विश्व कप 2023 के लिए योग्यता दांव पर है। सुपर लीग दुनिया भर के क्रिकेट प्रशंसकों को अपनी ओर खींचेगी, क्योंकि लीग क्रिकेट काफी रोमांचक होती है।"

Aus-vs-Ind

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस