नई दिल्ली, जेएनएन। पूर्व ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज क्रिकेटर और नेशनल सेलेक्टर मॉर्क वॉ ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड की आलोचना की है। उन्होंने बीसीसीआई के डे-नाइट टेस्ट मैच खेलने से इंकार करने पर भारत को ‘स्वार्थी’ बताया है। मॉर्क वॉ ने भारत के डे-नाइट टेस्ट खेलने से मना करने पर कहा कि इस मामले में भारत ने मतलबी व्यवहार किया है, चूंकि अब टेस्ट क्रिकेट को फिर से रोचक बनाने के लिए ऐसा किया जा रहा है और सभी क्रिकेट खेलने वाले देश इस बात का भरसक प्रयास कर रहे हैं कि टेस्ट क्रिकेट को फिर से कैसे चर्चित बनाया जाए।

मार्क वॉ बुधवार को एक रेडियो इंटरव्यू के दौरान बताया कि, 'भारत के लिहाज से मुझे उनका यह व्यवहार कुछ ‘स्वार्थी’ लगा चूंकि हम टेस्ट क्रिकेट को पुनर्जीवित करना चाहते हैं इसलिये इसे रोचक बनाने के लिये ऐसा प्रस्ताव रखा है। कुछ देशों में डे-नाइट टेस्ट क्रिकेट वह आवश्यक हिस्सा हो सकता है जो टेस्ट मैचों को दोबारा वहां पहुंचा दे जहां इसे होना चाहिए।'

मॉर्क वॉ ने आगे कहा, 'भारतीय टीम डे-नाइट टेस्ट के लिए काफी अच्छी है। उनके पास तेज गेंदबाज हैं। इसलिए वे केवल स्पिन गेंदबाजी पर निर्भर नहीं हैं और तकनीकि के आधार पर उनके बल्लेबाज भी काफी मजबूत हैं। इसलिए खेल की रोचकता के लिहाज से मुझे वह डे-नाइट टेस्ट देखना ज्यादा अच्छा लगता।'

आपको बता दें कि इस साल के आखिरी महीनों में टीम इंडिया को ऑस्ट्रेलिया का दौरा करना है। ऐसे में क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने टेस्ट सीरीज के पहले मैच को डे-नाइट कराने की योजना बनाई थी। यहां खेली जाने वाली 4 टेस्ट मैचों की बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी सीरीज का पहला मैच जो कि एडीलेड ओवल में 6-10 दिसंबर खेला जाएगा उसे डे-नाइट करवाने का प्रस्ताव रखा था जिसके बाद बीसीसीआइ ने इससे इंकार कर दिया था। यह मैच मैच डे-नाइट हो इसके लिए सीए ने बीसीसीआइ को मनाने की बहुत कोशिश की, लेकिन बीसीसीआइ ने इससे साफ इंकार कर दिया।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

By Ravindra Pratap Sing