नई दिल्ली, जागरण न्यूज नेटवर्क। अगर आप कुछ समय के बाद दिल्ली के अरुण जेटली स्टेडियम में कोई मुकाबला देखने पहुंचे और आपको स्टेडियम की तस्वीर बदली हुई लगे तो चौंकिएगा नहीं, क्योंकि दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ (डीडीसीए) ने स्टेडियम में कुछ बदलाव करने के फैले लिए हैं। डीडीसीए की इंफ्रास्ट्रक्चर कमेटी की गुरुवार को बैठक हुई, जिसमें कई अहम फैसले स्टेडियम की रूपरेखा को बदलने के लिए लिए गए।

दरअसल, डीडीसीए अध्यक्ष रोहन जेटली की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में फैसला किया गया कि अरुण जेटली स्टेडियम में डिजिटल स्क्रीन और डिजिटल स्कोर बोर्ड लगाया जाएगा। इसके अलावा स्टेडियम में खिलाड़ियों के लिए इंडोर बैडमिंटन कोर्ट और सिंथेटिक टेनिस कोर्ट के साथ-साथ स्वीमिंग पूल भी बनाया जाएगा। इसके अलावा बैठक में अन्य मुद्दों पर भी सहमति बनी, जिसमें एलईडी लाइट भी स्टेडियम में लगाई जाएंगी।

डीडीसीए इंफ्रास्ट्रक्चर कमेटी ने इस बात का भी फैसला किया है कि स्टेडियम के जिम में नए संसाधन भी लगाए जाएंगे, क्योंकि कई बार इंटरनेशनल मैचों के दौरान खिलाड़ियों की शिकायत रहती है कि उनको जिम में उस तरह के संसाधन नहीं मिले, जो अंतरराष्ट्रीय स्तर के हों। हालांकि, अब इन शिकायतों का निवारण करने के लिए डीडीसीए स्टेडियम के जिम में बदलाव करेगी। इसके अलावा फायर सिस्टम को भी अपग्रेड किया जाएगा।

गौरतलब है कि दिल्ली के ऐतिहासिक स्टेडियम में फिरोज शाह कोटला स्टेडियम के नाम से जाना जाता था, लेकिन बाद में इसका नाम बदलकर अरुण जेटली स्टेडियम रख दिया गया। हालांकि, स्टेडियम के अंदर जो मैदान है, उसका नाम अभी भी फिरोज शाह कोटला मैदान है। पूर्व केंद्रीय मंत्री और डीडीसीए के लंबे समय तक अध्यक्ष रहे अरुण जेटली के नाम पर ही इस स्टेडियम का नाम रखा गया है, क्योंकि उनका निधन हो गया था। दिल्ली की स्टेडियम की दर्शक क्षमता 41 हजार से ज्यादा है। इसमें विराट कोहली के नाम पर भी एक स्टैंड है।

Ind-vs-End

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप