नई दिल्ली, जेएनएन। टीम इंडिया के बॉलिंग ऑलराउंडर इरफान पठान के सितारे इस समय बतौर क्रिकेटर गर्दिश में हैं। इरफान पठान क्रिकेट स्टेडियम में तो होते हैं लेकिन, बतौर कॉमेंटेटर। साल 2012 में आखिरी अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने वाले इरफान पठान पिछले दो साल से आइपीएल में भी नज़र नहीं आए हैं। 2018 और 2019 के लिए इरफान पठान ने खुद को आइपीएल के लिए उपलब्ध बताया लेकिन, उन्हें बीते दो साल कोई खरीदार नहीं मिला।

इरफान पठान आखिरी बार साल 2017 में गुजरात लायंस के लिए खेले थे। इरफान पठान को उस सीजन में सिर्फ एक मौका मिला। इसके अलावा साल 2016 में पठान को चार मौके मिले। लेकिन, इरफान पठान इन मौकों को भी भुना नहीं पाए। इतना ही नहीं, साल 2015 में वे किसी भी टीम से कोई भी मैच नहीं खेले थे। ऐसे में टीम में वापसी और क्रिकेट से फिर से जुड़ने के लिए उन्होंने खुद को कैरेबियन प्रीमियर लीग यानी सीपीएल के लिए उपलब्ध बताया है।

सीपीएल ने इरफान पठान को ड्राफ्ट लिस्ट में शामिल कर लिया है। CPL 2019 के लिए 22 मई को लंदन में ऑक्शन होगा। साथ ही साथ अगर अभी किसी टीम को किसी खिलाड़ी को रिटेन करना है तो भी टीमें कर सकती हैं। अब देखना ये है क्या आइपीएल से बाहर रहे इरफान पठान को सीपीएल में मौका मिल सकता है या नहीं। पठान भारत की ओर से सीपीएल में जाने वाले इस साल पहले खिलाड़ी होंगे। 

आपको बता दें, इरफान पठान के शुरुआती दिनों में उनकी तुलना टीम इंडिया के महान ऑलराउंडर और साल 1983 का वर्ल्ड कप जिताने वाले कप्तान कपिल देव से की जाती थी। लेकिन, इसके बाद उनकी परफॉर्मेंस बिगड़ती गई और वो टीम से बाहर हो गए। हालांकि, पठान अभी भी जम्मू-कश्मीर की टीम से मैच खेलते आ रहे हैं। इन मैचों में इरफान पठान की परफॉर्मेंस साधारण ही रही है। 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Vikash Gaur