नई दिल्‍ली, पीटीआई। BCCI Elections: सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त प्रशासकों की समिति (सीओए) ने मंगलवार को ऐलान किया है कि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के प्रबंधन समिति के चुनाव 22 अक्‍टूबर को संपन्‍न होंगे। बैठक में प्रशासक समिति के मुख्‍य सदस्‍य विनोद राय के अलावा सदस्‍य डायना इदुलजी और रवि थोड़गे शामिल रहे। सुप्रीमकोर्ट के हस्‍तक्षेप के बाद गठित प्रस्‍तावक समिति ही बीसीसीआई का काम देख रही है।

प्रशासक समिति के मुख्‍य सदस्‍य विनोद राय की अध्‍यक्षता में मंगलवार को हुई बैठक में बीसीसीआई के बहुप्रतीक्षित चुनाव को लेकर मंथन किया गया। इसके बाद 22 अक्‍टूबर को चुनाव कराने का ऐलान किया गया। सीओए ने इसके लिए 14 सितंबर की तिथि तय की है। सीओए ने सुप्रीमकोर्ट द्वारा नियुक्त न्यायमित्र पीएस नरसिम्हा से सलाह के बाद चुनाव की तारीखों की घोषणा की। सभी राज्‍य क्रिकेट संघों को 23 सितंबर तक अपने प्रतिनिधियों के नाम बीसीसीआई को सौंपने को कहा गया है।

बीसीसीआई विवाद के बाद सुप्रीमकोर्ट ने जनवरी 2017 में लोढ़ा समिति की सिफारिशों को लागू करने के लिए सीओए को नियुक्त किया था। मंगलवार को हुई बैठक के बाद विनोद राय ने कहा कि 30 राज्‍य संघों ने लोढ़ा स‍मिति की सिफारिशों का पालन कर रहे हैं जबकि बाकी संविधान में बदलाव कर रहे हैं। उन्‍होंने कहा कि चुनाव के लिए तिथियों के ऐलान से वह खुश हैं।

उन्‍होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने जब उनकी नियुक्ति की थी तब बड़ी जिम्‍मेदारी थी। उन्‍होंने कहा कि राज्‍य संघों ने उनकी सिफारिशों को मान लिया है ऐसे में चुनाव संबंधी काम में सहूलियत मिली है। उन्‍होंने आगे कहा कि हम लोकतंत्र पर भरोसा करते हैं हमें खुशी है कि अब चुनाव के बाद कामकाम सुचारू हो जाएगा। विनोद राय ने कहा कि अब राज्‍य संघो की उच्‍चतम परिषद में नौ की जगह 19 सदस्‍यों को शामिल किया जाएगा।

सीएसी सदस्‍यों को भमिका संबंधी संदर्भ सौंपने को तैयार प्रशासक समिति
प्रशासकों की समिति हितों में टकराव के मामले में तीन सदस्यीय क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) के लिए तैयार किए गए संदर्भ को बीसीसीआई के लोकपाल डीके जैन के आदेश के बाद सौंपने को तैयार है। हालांकि मामले में अभी लोकपाल डीके जैन का फैसला आना बाकी है। सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण पर मध्यप्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन के सदस्य संजीव गुप्ता की ओर से लगाए गए आरोपों का तीनों ने खंडन किया है और अब वह लोकपाल डीके जैन के फैसले का इंतजार कर रहे हैं।

बीसीसीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि सीएसी सलाहकारों की भूमिका को लेकर "संदर्भ की शर्तें तैयार हैं। उन्‍होंने इस बात पर सहमति जताई कि पिछले चार सालों से तेंदुलकर अपनी भूमिका के लिए पूछ रहे थे। अधिकारी ने कहा "अगर उन्हें लगता है कि आप निराश हो सकते हैं, तो आप सचिन को दोषी नहीं ठहरा सकते। लेकिन उम्मीद करते हैं कि बहुत जल्द सभी भ्रम दूर हो जाएंगे।

 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Rizwan Mohammad

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप