मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

नई दिल्ली, जेएनएन। सोमवार को मुंबई में क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019 के लिए टीम इंडिया का एलान हो गया है। 30 मई से इंग्लैंड और वेल्स की सरजमीं पर क्रिकेट का सबसे बड़ा टूर्नामेंट खेला जाना है। इसके लिए सभी टीमें कमर कस रही हैं। आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप के लिए कई देशों की 15 सदस्यीय टीमों का एलान किया जा चुका है। इस बीच भारत की भी 15 सदस्यीय टीम सभी के सामने आ गई है, जिसमें तीन तेज गेंदबाज और तीन स्पिन गेंदबाज हैं। छह गेंदबाजों के अलावा तीन बैटिंग ऑल राउंडर हैं। वहीं, 6 क्वालिटी बैट्समैन को टीम इंडिया में जगह मिली है।

भारतीय क्रिकेट बोर्ड ने वर्ल्ड कप 2019 के लिए शामिल किए इन 6 गेंदबाजों में जसप्रीत बुमराह, भुवनेश्वर कुमार और मोहम्मद शमी को बतौर तेज गेंदबाज जगह मिली है। वहीं, युजवेंद्र चहल, कुलदीप यादव और रवींद्र जड़ेजा को स्पिन गेंदबाज के रूप में 15 सदस्यीय टीम का हिस्सा बनाया गया है। विश्व क्रिकेट के सबसे बड़े टूर्नामेंट के लिए ये नपी-तुली टीम लगती है। आइए जानते हैं कि अंतरराष्ट्रीय वनडे क्रिकेट में किस गेंदबाज ने कैसी छाप छोड़ी है।

जसप्रीत बुमराह- सभी जानते हैं कि जसप्रीत बुमराह क्रिकेट के सभी फॉर्मेट में अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। बुमराह के वनडे करियर की बात करें तो उन्होंने अब तक 49 मैचों में 85 विकेट चटकाए हैं। इस दौरान उनकी इकॉनमी 4.51 की रही है। कप्तान विराट कोहली के लिए बुमराह तुरुप का इक्का हैं।

भुवनेश्वर कुमार- स्विंग के सुल्तान कहे जाने वाले भुवी 105 वनडे मैच खेल चुके हैं। इस दौरान उन्होंने 118 विकेट चटकाए हैं। हालांकि, बीते कुछ समय से वे वनडे क्रिकेट में अपनी छाप नहीं छोड़ पाए हैं। इसके अलावा भुवनेश्वर चोट के चलते बाहर भी रहे हैं। लेकिन, मौजूदा समय में वे एकदम फिट हैं।

मोहम्मद शमी- साल 2013 में वनडे क्रिकेट में डेब्यू करने वाले मोहम्मद शमी ने अब तक भारतीय टीम के लिए 63 मैच खेले हैं। इन मैचों में उन्होंने 5.48 की इकॉनमी ले 113 विकेट अपने नाम किए हैं। बीते कुछ समय में शमी ने अपने शरीर और गेंदबाजी पर काफी काम किया है। यहां तक कि वे वनडे क्रिकेट में काफी असरदार नज़र आए हैं।

युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव- इन दोनों खिलाड़ियों की बात करें तो एक साथ जब भी खेलते हैं तो सामने वाली टीम पर काफी भारी पड़ते हैं। लेकिन, जब ये अकेले-अकेले खेलते हैं तो उतने असरदार नहीं दिखते। युजवेंद्र चहल के वनडे करियर की बात करें तो उन्होंने 41 वनडे मैचों में 72 विकेट अपने नाम किए हैं। वहीं, कुलदीप यादव 44 मैचों में 87 विकेट चटका चुके हैं।

रवींद्र जड़ेजा- टीम इंडिया की वर्ल्ड कप टीम में शामिल रवींद्र जड़ेजा सबसे जल्दी ओवर खत्म करने के लिए जाने जाते हैं। भारत के लिए 151 वनडे खेल चुके जडेजा के नाम इस फॉर्मेट में 174 विकेट दर्ज हैं। इसके अलावा वे जरूरत पड़ने पर रन भी बना सकते हैं। रवींद्र जडेजा के नाम वनडे में 2000 से ज्यादा रन दर्ज हैं।

इन सभी के अलावा हार्दिक पांड्या, विजय शंकर और केदार जाधव टीम के लिए गेंदबाजी कर सकते हैं। लेकिन, प्रमुख रूप से इन 6 गेंदबाजों पर अच्छा प्रदर्शन करने का दबाव होगा। ऐसे में देखना ये है कि ये खिलाड़ी किस तरह का असर छोड़ पाएंगे। बता दें कि वर्ल्ड कप 30 मई से इंग्लैंड और वेल्स में होगा।

Posted By: Vikash Gaur

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप