नई दिल्ली, प्रेट्र। खेल जगत के लिए रविवार का दिन बेहद खास था। बैडमिंटन हो या फिर क्रिकेट का मैदान। रविवार को यहां जो भी होता दिख रहा था वह हैरतअंगेज और किसी क्लासिक सपने से कम नहीं था। एशेज में रोमांचित करने के लिए बेन स्टोक्स का क्लासिक शो रहा। इंग्लैंड को विश्व कप में ऐतिहासिक जीत दिलाने वाले स्टोक्स ने रविवार को लीड्स के मैदान में हैरतअंगेज पारी खेलकर इंग्लैंड को ना सिर्फ हार के मुंह से बाहर निकाला, बल्कि एशेज सीरीज को भी 1-1 की बराबरी पर ला दिया।

बेन स्टोक्स ने इस ऐतिहासिक पारी से पहले ऐसा क्या खा लिया, जिससे उन्हें इतनी ऊर्जा मिल गई कि उन्होंने हारी हुई बाजी को किसी फिल्मी अंदाज में जीत में बदल दिया। स्टोक्स ने इस ऐतिहासिक लम्हे से पहले जो खाया उसे जानकर आप हैरान रह जाएंगे। टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली तो शायद सपने में यह नहीं खाएंगे जो स्टोक्स ने इस पारी को खेलने से पहले वाली रात को खाया।

इंग्लैंड की ऐतिहासिक जीत के बाद स्टोक्स से जब यह सवाल पूछा गया था यह सुनकर क्रिकेट खिलाड़ियों को ही नहीं इंग्लैंड टीम के डायटिशन भी हैरत में रह गए होंगे। क्रिकेटर इन दिनों फिटनेस के प्रति कुछ ज्यादा ही सावधान रहते हैं और वे फ्राइड और हाई कैलोरी फूड खाने से दूर ही रहते हैं। लेकिन स्टोक्स ने शनिवार की रात फ्राइड चिकन और चॉकलेट ही उड़ाई।

स्टोक्स ने कहा कि बीती रात मैंने नॉक-ऑफ नैंडोस (फ्राइड चिकन) और यॉर्की बिस्कुट के दो (चॉकलेट) बार और कुछ किशमिश खाए थे। सुबह उठ कर एक-दो कॉफी पी ली। इसके बाद मैदान पर उतरकर स्टोक्स ने जो कमाल किया वह अब इतिहास है। अपनी शानदार पारी पर स्टोक्स ने कहा कि पारी के दौरान मैं बस इतना जानता था कि अगर आज हार गए तो हमारे हाथ से एशेज चली जाएगी।

स्टोक्स के बल्ले से कमाल की बल्लेबाजी तब निकली, जब इंग्लैंड के पास एकमात्र विकेट बचा था और हार को जीत में बदलने के लिए उसे 73 रन की दरकार थी। इंग्लैंड के इस उप कप्तान ने कहा कि जब 11वें नंबर का बल्लेबाज क्रीज पर आया तो हमें 73 रन की दरकार थी। मैं जानता था कि इस प्रकार के खेल में अब मेरे लिए क्या बचा था। स्टोक्स ने जैक लीच से बस साथ मांगा और बाकी का सारा काम उन्होंने अपने जिम्मे ले लिया।

स्टोक्स की शान में कसीदे

बेन स्टोक्स के करिश्मे को हर कोई सलाम कर रहा है। इंग्लैंड के पूर्व कप्तान नासिर हुसैन ने ट्वीट किया कि आप ऐसा नहीं कर सकते बेन स्टोक्स। ऑस्ट्रेलिया को दो बार विश्व विजेता बनाने वाले कप्तान रिकी पोंटिग ने कहा कि मुङो नहीं पता कि मैंने टेस्ट मैदान पर इससे बेहतर कुछ देखा है या नहीं। उनके द्वारा लगाए गए कुछ शॉट तो शानदार थे ही, साथ ही इस दवाब के क्षण में जिस तरह से उन्होंने फैसले लिए, वो भी लाजवाब है।

इसी के साथ स्टोक्स ने महान खिलाड़ी इयान बाथम और एंड्रयू फ्लिंटाफ की बराबरी कर ली है। बाथम ने 1981 में खेले गए एशेज सीरीज के तीसरे टेस्ट में पहली पारी में छह विकेट लिए थे और 50 रन बनाए थे। दूसरी पारी में बाथम ने 149 रनों की पारी खेलकर ऑस्ट्रेलिया को 18 रनों से हराया था। फ्लिंटाफ ने 2005 एशेज सीरीज के दूसरे टेस्ट की दोनों पारियों में 68 और 73 रन बनाए थे और सात विकेट लेकर इंग्लैंड को दो रनों से रोमांचक जीत दिलाई थी।

Posted By: Vikash Gaur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस